Indore News: देश के लिए जीना और मरना सिखाता है टंट्या मामा का व्यक्तित्व-कृषि मंत्री पटेल

इंदौर: प्रदेश के कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा कि टंट्या मामा का व्यक्तित्व राष्ट्र के लिए जीना और मरना सिखाता है। टंट्या मामा जैसे बिरले ही जननायक होते हैं जो अंग्रेजी सेना से छीनकर लूटकर दीनहीन और गरीबों में बांटते थे। यदि वास्तविक रूप से टंट्या मामा के जीवन पर वर्तमान समय में अध्यनन करेंगे तो पाएंगे कि उन जैसे बहुत कम जननायक होंगे जो राष्ट्र और देश के वास्तविक चिंतक रहे हो। मध्यप्रदेश शासन ने ऐसे वीर, साहसी और अंग्रेजों में हमेशा ख़ौफ़ जगाने वाले शहीद जननायक के जीवन गाथा और उनके वास्तविक उद्देश्य को सबके सामने रखने के लिए यात्रा प्रारंभ की। इस यात्रा का मुख्य उद्देश्य यह भी है कि टंट्या मामा के बलिदान को आने वाली पीढ़ी समझे और उनको अपने जीवन का प्रेरणा स्त्रोत माने। कृषि मंत्री व खरगोन जिले के प्रभारी मंत्री श्री कमल पटेल सोमवार को जिले के भीकनगांव के भोलाचौक में क्रांतिसूर्य जननायक टंट्या मामा की गौरव यात्रा को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान आधुनिक काल के टंट्या मामा

कृषि मंत्री श्री पटेल ने भीकनगांव में जननायक टंट्या मामा की गौरव यात्रा को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी संस्कृति में पुर्नजन्म को माना जाता है। इस दृष्टि से देखे तो प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान आधुनिक काल के टंट्या मामा है। जैसे टंट्या मामा अंग्रेजों से लूटकर गरीबजनों में बांटते हुए मांगलिक कार्यों और विवाह के लिए अनेक परिवारों की सहायता करते थे, उसी तरह आज आधुनिक दौर में मुख्यमंत्री श्री चौहान अमीर नागरिकों से टैक्स लेकर गरीबों और दीनहीन वर्गों के लिए एक अद्भुत योजना बनाई है जिसके माध्यम से आदिवासी समाज और गरीब परिवारों की कन्याओं के लिए कन्यादान की महत्वपूर्ण योजना बनाई है।

देश की प्रगति और संपन्नता के लिए शपथ जरूरी

कृषि मंत्री श्री पटेल ने गौरव यात्रा को संबोधित करते हुए कहा कि आज हमारा देश विश्व के कई देशों से कई मामलों में आगे निकल रहा है। देश की प्रगति और संपन्नता के लिए हर एक नागरिक को शपथ लेनी ही चाहिए। मंत्री श्री पटेल ने सभा मंच से देश की प्रगति और संपन्नता के लिए एक एक व्यक्ति को योगदान देने के लिए शपथ दिलाई।

टंट्या मामा अमर हो टंट्या मामा की जय

जननायक टंट्या मामा की गौरव यात्रा चल समारोह के साथ नगर के भोला चौक पहुँची। यहां कृषि मंत्री श्री कमल पटेल भी पहुँचे। उन्होंने पहुंचते ही टंट्या मामा के रथ पर जबलपुर और पंधाना की माटी के कलश की पूजा अर्चना की। इसके पश्चात चौक में टंट्या मामा की आदमकद प्रतिमा पर फूल माला पहनाकर शीश नमाया। वहीं उन्होंने टंट्या मामा अमर रहे टंट्या मामा की जय के जयकारे लगाए। कार्यक्रम को भील समाज के प्रदेश अध्यक्ष श्री गुलाबसिंह वास्कले ने भी संबोधित किया। वहीं जनजाति कार्य विभाग के छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। कार्यक्रम के दौरान विधायक श्रीमति झूमा सोलंकी, पूर्व विधायक श्री धुलसिंह डावर, नगर परिषद के अध्यक्ष श्री दीपक ठाकुर, श्री राजेन्द्र राठौड़, अपर कलेक्टर श्री एसएस मुजाल्दा, एसडीएम सुश्री शिराली जैन, खरगोन एसडीएम श्री मिलिंद ढोके, जनजाति कार्य विभाग के सहायक आयुक्त श्री जेएस डामोर व अन्य अधिकारी और जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।