इंदौर लोकायुक्त पुलिस ने की ट्रैप कार्यवाही, भ्रष्टाचार संशोधित अधिनियम के तहत दर्ज किया प्रकरण

कृषि उपज मंडी धार में आरोपियों के द्वारा उससे गाड़ी पास करने के बहाने पैसे की मांग की जा रही है। आवेदक के द्वारा जब मंडी प्रांगण से खरीदे गए माल को बाहर भेजने के लिए आवेदक का लाइसेंस भी ब्लॉक किया गया है।

अनाज व्यापारी से रिश्वत की मांग करने पर इंदौर लोकायुक्त पुलिस ने ट्रैप की कार्यवाही की। दरअसल आवेदक अनाज का व्यापारी है और कृषि उपज मंडी धार में किसानों का आवेदक द्वारा अनाज लिया जाता है। लेकिन आवेदक के द्वारा इंदौर लोकायुक्त पुलिस कार्यालय में दिनांक 16 2022 को शिकायत दर्ज की गई। जिसमें बताया गया कि कृषि उपज मंडी धार में आरोपियों के द्वारा उससे गाड़ी पास करने के बहाने पैसे की मांग की जा रही है। आवेदक के द्वारा जब मंडी प्रांगण से खरीदे गए माल को बाहर भेजने के लिए आवेदक का लाइसेंस भी ब्लॉक किया गया है।

हालांकि इस इसके बाद जब आवेदक से लाइसेंस की आईडी चालू कराने को लेकर 15000/- रिश्वत की मांग की गई। आवेदक से कहा गया कि लाइसेंस की आईडी 15000/- देने के बाद ही चालू की जाएगी।

Must Read- Indore News : 10 सदस्यीय MIC का हुआ गठन, इन सदस्यों का हुआ चयन
हालांकि इसके बाद आवेदक की शिकायत के सत्यापन पर पुष्टि होने पर आरोपी द्वारा 15000/- की मांग सही पाए जाने पर 18 अगस्त 2022 को इंदौर लोकायुक्त पुलिस के द्वारा ट्रैप टीम गठित की गई।हालांकि इस दौरान धार पहुंचने पर आरोपी कृषि उपज मंडी प्रांगण से चला गया। लेकिन आरोपी के विरुद्ध धारा 7 भ्रष्टाचार निवारण संशोधन अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है।