Indore : आईपीएस एकेडमी में आयोजित हुआ ऊर्जा साक्षरता कार्यक्रम, लालवानी ने विद्यार्थियों को बताया इसका महत्व

मध्यप्रदेश शासन द्वारा गत 17 सितंबर से 31 अक्टूबर तक प्रदेशव्यापी मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान संचालित किया जा रहा है।

इंदौर(Indore) : मध्यप्रदेश शासन द्वारा गत 17 सितंबर से 31 अक्टूबर तक प्रदेशव्यापी मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान संचालित किया जा रहा है। उक्त अभियान के तहत आज इंदौर की आईपीएस एकेडमी में सांसद शंकर लालवानी के मुख्य आतिथ्य में ऊर्जा साक्षरता कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर पर पूर्व महापौर कृष्ण मुरारी मोघे, इंदौर विकासखंड के जनपद पंचायत अध्यक्ष विश्वजीत सिंह, पार्षद प्रिया दांगी, अपर कलेक्टर पवन जैन, आईपीएस एकेडमी के संस्थापक अचल चौधरी सहित शिक्षकगण एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।

Read More : देसी रंग में रंगी Monalisa, साड़ी पहन दिखाई पतली कमर

कार्यक्रम में ऊर्जा संरक्षण अभियान “ऊषा” के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी उपस्थित विद्यार्थियों को दी गई। सभी को ऊर्जा मित्र के रूप में कार्य कर उर्जा संरक्षण को जिले भर में प्रोत्साहित करने का अनुरोध किया गया। सांसद लालवानी ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी सदस्यों को ऊर्जा संरक्षण की शपथ भी दिलाई।

इंदौर नगर निगम ने कार्बन क्रेडिट से 8.34 करोड़ की आय अर्जित की

सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि ऊर्जा का महत्व हम सभी के लिए जानना एवं समझना बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 से पहले देश को प्रतिदिन औसत 17 घंटे की बिजली प्राप्त हो रही थी परंतु प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बिजली का उत्पादन कई गुना अधिक बढ़ा जिससे आज देश को औसत 22 घंटे 44 मिनट बिजली प्रतिदिन प्राप्त हो रही है। पहले जहां देश पावर फैलियर की समस्या से जूझ रहा था वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने वन नेशन वन ग्रिड की अवधारणा को मूर्त रूप दिया।

Read More : जहाज : 1300 साल पुराना मिला खजाना, समंदर से मिले कई अहम सामान

सांसद लालवानी ने कहा कि विश्वव्यापी ग्लोबल वार्मिंग की समस्या से निजात पाने के लिए हम सभी को हर संभव प्रयास करने हैं, ऊर्जा संरक्षण उसी दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।  उन्होंने कहा कि देश एवं प्रदेश में क्लीन तथा ग्रीन एनर्जी प्रमोट की जा रही है। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा फेम-2 योजना के तहत इलेक्ट्रिक व्हीकल के उपयोग को प्रोत्साहित किया जा रहा है। साथ ही हाइड्रो एनर्जी को भी अब प्राथमिकता दी जा रही है।

क्लीन एनर्जी से होने वाले फायदों का उत्तम उदाहरण नगर निगम इंदौर ने सबके समक्ष रखा है गत वर्ष इंदौर नगर निगम ने कार्बन क्रेडिट से 8.34 करोड रुपए की आय अर्जित की है, ऐसा करने वाला इंदौर पहला शहर है। सांसद लालवानी ने बताया कि वर्तमान में पारंपरिक ईंधन की जगह वैकल्पिक ईंधनों को बढ़ावा दिया जा रहा है।  संपूर्ण देश में कार्बन उत्सर्जन कम करने की दिशा में कार्य किए जा रहे हैं। सांसद लालवानी ने कहा कि ऊर्जा संरक्षण ही ऊर्जा उत्पादन है। जिस तरह इंदौर स्वच्छता के क्षेत्र में सबसे आगे रहा है उस तरह उसी तरह ऊर्जा संरक्षण के क्षेत्र में भी आगे बढ़कर नई मिसाल पेश करेगा।

ऊर्जा संरक्षण में हम सभी की है महत्वपूर्ण भूमिका

पूर्व महापौर कृष्ण मुरारी मोघे ने कहा कि विकास के साथ-साथ ऊर्जा की मांग में भी इजाफा आया है इसलिए आज के समय में ऊर्जा संरक्षण और जरूरी हो गया है। शासन द्वारा ऊर्जा संरक्षण हेतु शुरू किए गए जागरूकता अभियान ने हमें एक दिशा दी है लेकिन अगर इस अभियान में परिणाम लाने हैं तो उसमें हम सभी का योगदान जरूरी रहेगा। पूर्व महापौर मोघे ने सौर ऊर्जा को अपनाने एवं ऊर्जा संरक्षण को प्रोत्साहित करने के लिए कुछ जरूरी सुझाव भी दिए।

उन्होंने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग मानव जाति के लिए एक बड़ी समस्या है उसे दूर करने के लिए हम सभी को अपनी भूमिका समझनी होगी और ऊर्जा संरक्षण करके देश के विकास एवं पर्यावरण संरक्षण में अपनी सहभागिता निभानी होगी।
अपर कलेक्टर पवन जैन ने कहा कि पृथ्वी, जल और वायु हमारे माता पिता से प्राप्त हमारे लिए एक उपहार नहीं है बल्कि हमारे बच्चों के लिए कर्ज़ है। यदि हमें आने वाली पीढ़ी को पृथ्वी इसी रूप में सौंपनी है तो इसके लिए हम सभी को ऊर्जा संरक्षण को एक आदत बनाने की जरूरत है।