Indore : मालवांचल यूनिवर्सिटी में 2 दिवसीय इंटरनेशनल वर्कशॅाप हुई आयोजित, जल्द होगा फिजियोथैरेपी से मरीजों का इलाज

किसी भी व्यक्ति की बदलती लाइफस्टाइल के कारण उसे मांसपेशियों संबंधित बीमारी होने का खतरा सबसे ज्यादा होता है।

इंदौर(Indore) : किसी भी व्यक्ति की बदलती लाइफस्टाइल के कारण उसे मांसपेशियों संबंधित बीमारी होने का खतरा सबसे ज्यादा होता है। आमतौर पर दवाईयों के साथ फिजियोथैरेपी की फेशियल फ्लॉस कम्प्रेशन थेरेपी मरीजों के लिए काफी बेहतर साबित होती है। आमतौर पर कलाई में दर्द की समस्या आम लोगों के साथ खिलाड़ियों में सबसे ज्यादा देखने को मिलती है।

इसी कारण स्पोट्रर्स इंजरी में फिजियोथैरिपस्ट की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण होती है।यह बात भारत में आए इंटरनेशनल फिजियोथैरेपी एक्सपर्ट डॅा.डॉ. क्रिश्चियन विलेला ने कहीं। वे मालवांचल यूनिवर्सिटी में फिजियोथैरपी के विद्यार्थियों के लिए फेशियल फ्लॉस कम्प्रेशन थेरेपी पर दो दिवसीय इंटरनेशनल वर्कशॅाप में मुख्य वक्ता थे। इंडेक्स डिपार्टमेंट आफ फिजियोथैरेपी एंड पैरामेडिकल साइंसेस द्वारा यह वर्कशॅाप आयोजित की गई।

Read More : अमरनाथ यात्रा में इस बार मिलेगा आने वाली पीढ़ियों की खुशहाली का वरदान

इंटरनेशनल वर्कशॅाप में मिला सर्टिफिकेट

इस अवसर पर डॅा. चिराग वर्मा ने कहा कि भारत में पहली बार इटली के डॉ. क्रिश्चियन विलेला इटालियन एसोसिएशन ऑफ प्रोफेशनल ओस्टियोपैथ्स के अध्यक्ष आए। भारत में दिल्ली और इंदौर में फिजियोथैरेपी के युवाओं को प्रशिक्षित किया। मप्र में पहली बार मालवांचल यूनिवर्सिटी में फेशियल फ्लॉस कम्प्रेशन थेरेपी के बारे में जानकारी दी। इस अवसर पर प्राचार्य रेशमा खुराना ने बताया कि इंदौर में युवाओं को कंधों, कोहनी, कलाइयों, साइटिका और घुटनों का दर्द के बारे जानकारी दी।

Read More : आषाढ़ माह के गुप्तनवरात्र आरम्भ, इस तरह करे माता को प्रसन्न

डॉ. क्रिश्चियन विलेला खासतौर पर युवाओं को प्रशिक्षित किया। इंटरनेशनल वर्कशॅाप में मिला सर्टिफिकेट विभिन्न देशों में मान्य रहेगा।इस अवसर पर इंडेक्स समूह के चेयरमैन सुरेश सिंह भदौरिया, वाइस चेयरमैन मयंक राज सिंह भदौरिया, मालवांचल यूनिवर्सिटी के प्रो.चासंलर डॉ. संजीव नारंग, कुलपति एन के त्रिपाठी ,रजिस्ट्रार डॉ. एम क्रिस्टोफर,इंडेक्स डायरेक्टर आर एस राणावत, एडिशनल डायरेक्टर आर सी यादव, मेडिकल कॅालेज डीन डॉ.जीएस पटेल,मेडिकल सुप्रिडेंटेंड लेफ्टिनेंट कर्नल डॉ.अजयसिंह ठाकुर उपस्थित थे। आभार डॅा.वैशाली पटेल ने माना। संचालन पायल जैन ने किया।

Source : PR