समुद्र में बढ़ी भारत की ताकत, K-4 बैलिस्टिक मिसाइल का हुआ सफल परीक्षण

0
K-4

विशाखापट्टनम। भारत ने बुध्वार को पानी से जमीन पर मार करने वाली स्वदेशी के-4 बैलेस्टिक मिसाइल के पनडुब्बी संस्करण का पिछले छह दिनों में दूसरी बार सफल परीक्षण कर लिया है। बताया जा रहा है कि 3500 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली इस मिसाइल विशाखापट्टनम के तट से का सफल परीक्षण किया।

इससे पहले के-4 का रविवार को सफल परीक्षण किया गया था। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा विकसित इस मिसाइल को अरिहंत क्लास की परमाणु पनडुब्बियों के बेड़े पर तैनात किया जाएगा। हालांकि इसके अभी कई और परीक्षण होना बाकी है।

अचूक निशाने वाली के-4 पानी से पानी में टारगेट का निशान साधने में भी सक्षम है। बताया जा रहा है कि यह मिसाइल से 2 हजार किलोग्राम तक का परमाणु हथियार ले जा सकती है, 12 मीटर लंबी इस मिसाइल का वजन करीब 17 टन है। इतना ही नहीं, एक हल्की, तेज और आसानी से रडार की पकड़ में ना आने वाली मिसाइल है।

पानी से जमीन पर मार करने में सक्षम इस मिसाइल के परीक्षण भर से ही पाकिस्तान थर-थर कांप रहा है। के-4 में चीन की राजधानी बीजिंग से लेकर पाकिस्तान के सभी शहरों को अपनी जद में लेने की क्षमता भी है।