मध्यप्रदेश के राज्यपाल मंगुभाई पटेल और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रविवार यानि आज देश की स्वतंत्रता और ज नजातीय गौरव की रक्षा के लिए प्राणोत्सर्ग करने वाले मामा टंट्या भील के बलिदान दिवस पर शामिल हुए। इस अवसर पर शहर में अलग-अलग स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किए गए।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शहर के इंदौर स्टेडियम में टंट्या मामा के बलिदान दिवस पर कहा कि प्रदेश में लव जिहाद को किसी भी हालात में पनपने नहीं दिया जाएगा। कोई भी हमारी बेटियों-बच्चियों को प्यार के नाम पर शादी कर 35 टुकड़े कर दे, हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने स्टेडियम में मौजूद आदिवासियों को पेसा कानून के साथ ही मनरेगा के बारे जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पेसा कानून आदिवासियों के लिए हैं। आपकी जमीन पर कोई भी ऐसे अधिकार नहीं कर सकता। कई लोग आपकी जमीन को हड़पने के लिए कई तरह से प्रयास कर सकते हैं। वह आपकी जमीन हथियाने के लिए आपकी बेटियों से विवाह कर सकते हैं। यह ठीक नहीं है। इससे सजग भी रहें।

वहीं टंट्या मामा के बलिदान दिवस पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री पातालपानी पहुंचे। यहा माल्यर्पण करने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि पातालपानी की माटी ने वीर नायक टंट्या भील को अपने दामन में समेटा था। आज उनके बलिदान दिवस के अवसर पर यहाँ का कण कण जागृत और गर्वित नज़र आ रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पातालपानी स्टेशन का नाम टंट्या मामा स्टेशन हो गया हैं।

राज्यपाल पटेल और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रविवार को उनकी शहादत को नमन करने पहुंचे थे। यहां संस्कृति और पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर हेलीपैड पर उनकी अगवानी की। माल्यार्पण करने के बाद हेलीकॉप्टर से इंदौर पहुंचे। यहां टंट्या मामा की प्रतिमा का अनावरण किया। भंवरकुआं चौराहा अब टंट्या मामा चौराहा हो गया।

https://www.facebook.com/collectorindore?mibextid=ZbWKwL

स्टेडियम में नाचते-गाते पहुंचे लोग

नेहरू स्टेडियम में होने वाले आयोजन के लिए दोपहर 12 बजे से ही लोग पहुंचने लगे थे। डीजे और डोल की थाप पर नाचते-गाते पहुंचने लगे। कुर्सियां भरने के बाद स्टेडियम की दीर्घा में लोगों को बैठाया जाने लगा। चार गेट से लोगों को प्रवेश दिया गया। स्टेडियम के प्रत्येक गेट पर शौचालय और पानी की व्यवस्था की गई थी।

Also Read – दूकान के सामने शराब न पीने की बात से गुस्साए बाराती, दे दी ये बड़ी सजा, देखते ही कांप जाएगी रूह

पातालपानी स्टेशन का नाम टंट्या मामा स्टेशन हो गया

जननायक टंट्या मामा के बलिदान दिवस के अवसर पर रविवार को शहर में अलग-अलग स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और राज्यपाल मंगूभाई पटेल महू के पातालपानी से इंदौर के टंट्या मामा चौराहा (भंवरकुआं) चौराहे पहुंचे। यहां उन्होंने टंट्या मामा की प्रतिमा का अनावरण किया। इसके बाद वह नेहरू स्टेडियम के मुख्य कार्यक्रम के लिए रवाना हुए। जहां संभाग से बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। इन्हें यहां लाने के बसों की व्यवस्था भी की गई है।

जानकारी के मुताबिक बता दें कार्यक्रम में करीब 1 लाख लोगों के आने की संभावना है। यह पहली बार है जब टंट्या मामा को लेकर शहर में इतना बड़ा आयोजन किया जा रहा है। कलेक्टर डा. इलैयाराजा टी ने बताया कि यह राज्य स्तरीय कार्यक्रम है। बलिदान दिवस का कार्यक्रम भव्य एवं व्यापक होगा। सभी तैयारियां पूरी हो गई है। सेक्टरवार बैठक व्यवस्था की गई है। कार्यक्रम स्थल में 22 सेक्टर बनाए गए हैं। इसके अलावा परिवहन, पार्किंग, भोजन, पेयजल, आकस्मिक चिकित्सा व्यवस्था की गई है।