Indore Vaccination : आज से गर्भवती महिलाओं को लगेगी वैक्सीन

indore news

इंदौर (Indore News) : स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत शासन द्वारा अब गर्भवती महिलाओं को कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए टीका लगाए जाने संबंधी निर्देश दिये गये हैं। इसी तारतम्य में प्रदेश के साथ-साथ इंदौर जिले में भी प्रत्येक मंगलवार और शुक्रवार को गर्भवती महिलाओं की जाँच के साथ-साथ उन्हें कोविड का टीका भी लगाया जाएगा। आज 23 जुलाई शुक्रवार से यह शुरुआत की जा रही है। गर्भवती महिला की जाँच के साथ-साथ उसे कोविड-19 टीकाकरण के संबंध में आवश्यक परामर्श दिया जाएगा तथा कोविड-19 से बचने के लिए गर्भवती महिलाओं को यह टीका लगाया जाएगा।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस. सैत्या ने बताया कि गर्भवती महिलाओं को संक्रमण का खतरा अन्य लोगों से अधिक होता हैं, इसलिए टीकाकरण एक महत्वपूर्ण सुरक्षा कवच है। कोविड-19 के लक्षण जिन गभर्वती महिलाओं में पाए जाते हैं, उन्हें गंभीर बीमारी होने का खतरा अधिक होता है, इसलिए गर्भवती महिलाओं को कोविड-19 वैक्सीन लगाने की सलाह दी गई है। यह गर्भावस्था के किसी भी समय में लगाए जा सकते हैं। यह टीका गर्भवती महिला को सुरक्षित रखने हेतु सर्वाधिक महत्वपूर्ण उपाय है। यदि गर्भवती महिला कोविड संक्रमित हो चुकी है, तो उसे प्रसव के बाद ही तुरंत टीका लगाया जाएगा। गर्भवती महिला को यदि एलर्जी या अन्य कोई जोखिम के लक्षण हैं, तो ऐसी स्थिति में टीका नहीं लगाया जाए।

गर्भवती महिलाओं का पंजीयन केवल ऑन साईट ही किया जाएगा। टीका लगने के बाद ‘सुमन हेल्प डेस्क’ के माध्यम से 20 दिन तक महिला का फालोअप किया जाएगा तथा कोविड-19 टीकाकरण की एंट्री एम.सी.पी. कार्ड पर की जाएगी। गर्भवती महिला को टीका लगने के बाद 20 दिन के भीतर कोई भी लक्षण दिखाई दे तो तुरंत 1075 या 104 पर कॉल किया जा सकता है। यह टीके मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल, सिविल अस्तपाल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर ही लगाए जाएंगे। गर्भवती महिलाओं को कोवैक्सीन लगाई जाएगी। सभी स्वास्थ्य संस्थाएं जहाँ टीकाकरण होगा वहाँ ए.ई.एफ.आई. किट रखना अनिवार्य होगा।

गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण कई देशों में किया जा चुका है और इसके अच्छे परिणाम देखने को मिले हैं। महिलाएं यदि डी.टी. का टीका भी लगा रहीं हैं, तो उसी दिन कोविड का टीका भी लगवा सकती हैं। अन्य टीकों की तरह इसके सामान्य प्रतिकूल प्रभाव जैसे हल्का बुखार, सिरदर्द, टीके के स्थान पर हल्का दर्द हो सकते हैं, लेकिन इससे घबराने की आवश्यकता नहीं है। यह स्वतः ही दो दिन में ठीक हो जाते हैं। कोविड टीका लगाने के लिए गर्भवती महिला को आधार कार्ड लाना आवश्यक होगा। इंदौर में शहरी क्षेत्र में मेडिकल कॉलेज (एम. व्हाय, चिकित्सालय की ओपीडी), पीसी सेठी चिकित्सालय, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बाणगंगा, मांगीलाल चूरिया, नंदानगर प्रसूतिगृह तथा ग्रामीण क्षेत्र में महू, मानपुर, सांवेर, देपालपुर एवं बेटमा में लगाए जाऐंगे।