उत्तर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के सोशल मीडिया हेड को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उन पर आरोप है कि समाजवादी पार्टी नेता डिंपल यादव पर अभ्रद टिप्पणी का मामला सामने आया है। इस के को लेकर पार्टी के नेताओं ने पुलिस को एफआईआर दर्ज करवाई। इसके बाद राज्य बीजेपी सोशल मीडिया हेड डॉक्टर ऋचा राजपूत को हिरासत में ले लिया गया है।

बता दें, सपा नेता डिंपल यादव पर अभ्रद टिप्पणी करने पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने लखनऊ के हजरतगंज थाने में शिकायत दी है। वही इसके पहले सपा के ट्विटर हैंडल के संचालक मनीष जगन अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया गया था।

गौरतलब है कि, लखनऊ की हजरतगंज पुलिस ने मनीष जगन अग्रवाल को रविवार सुबह गिरफ्तार कर लिया है। समाजवादी पार्टी के टि्वटर हैंडल से की गई अभद्र टिप्पणी को लेकर हजरतगंज कोतवाली में केस दर्ज कराए गए थे। मनीष जगन अग्रवाल ही सपा का टि्वटर अकाउंट हैंडल करता था। वह सीतापुर का रहने वाला है।

6 जनवरी को लखनऊ में बीजेपी युवा मोर्चा की सोशल मीडिया इंचार्ज डॉ. ऋचा राजपूत ने समाजवादी पार्टी मीडिया सेल नाम के टि्वटर हैंडल पर रेप और जान से मारने की धमकी दिए जाने पर मुकदमा दर्ज करवाया था। मनीष जगन के खिलाफ FIR में सपा के मीडिया समन्वयक आशीष यादव और पूर्व एमएलसी उदयवीर सिंह का नाम भी शामिल किया गया है।

यूपी ADG ने दी ये जानकारी

यूपी पुलिस के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि एक राजनीतिक दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष अपने कुछ विधायकों के साथ आज डीजीपी मुख्यालय पहुंचे थे। क्योंकि आज संडे का दिन होता है तो कम अधिकारी ही मुख्यालय पर रहते हैं। लिहाजा सूचना मिलते ही सक्षम अधिकारी व लखनऊ पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे थे।

उनको बताया गया कि समाजवादी पार्टी के सोशल मीडिया टि्वटर हैंडल के द्वारा की जा रही टिप्पणी को लेकर मनीष जगन अग्रवाल की गिरफ्तारी की गई है। शांति व्यवस्था भंग होने के पूरे आसार थे।

उन्होंने बताया कि नवंबर से ही यह प्रकरण चल रहा था, उसी में विवेचना के बाद गिरफ्तारी की गई। जो आगमन था, उसकी सूचना पहले से नहीं दी गई थी। गेट पर हुए प्रदर्शन पर भी कार्रवाई होगी। उक्त व्यक्ति के खिलाफ एक नामजद अभियोग तथा मीडिया सेल के खिलाफ 2 मामले दर्ज है। जिसकी इलेक्ट्रोनिक फुटप्रिंट तथा सर्विस प्रोवाइडर से जानकारी जुटाने के बाद गिरफ्तारी की गई है।