आज श्रावण का दूसरा सोमवार है। ऐसे में आज बड़ी संख्या में भक्त नर्मदा स्नान और भगवान ओंकारेश्वर- ममलेश्वर महादेव के दर्शन करने के लिए पहुंचे हैं। बताया जा रहा है कि आज के दिन ओंकारेश्वर के मूल स्वरूप का महाश्रृंगार श्रद्धालुओं का आकर्षण रहेगा। वहीं सवारी की बात करें तो भगवान ओंकारेश्वर और ममलेश्वर की सवारी दोपहर बाद नगर भ्रमण करेगीं। जानकारी के मुताबिक, श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए मंदिर ट्रस्ट ने मंदिर के पट प्रातः काल 4:30 बजे ही खोल दिए थे।

आज सोमवार के दूसरे दिन भगवान के दर्शन के लिए काफी दूर दूर से लोग आए है। दोपहर 12:00 बजे तक 30 हजार से अधिक श्रद्धालु दर्शन लाभ ले चुके थे। वहीं दोपहर 12:20 से 1:20 तक भगवान को मध्यकालीन भोग के समय मंदिर के पट बंद होने पर दर्शनार्थियों की कतार साधारण द्वार तक पहुच गई। बता दे, श्रद्धालुओं की सुविधा और लोगों को जल्दी दर्शन करवाने के लिए दो कतारों में लोगों को भेज जा रहा है। ऐसे में सुखदेव मुनि द्वार के समक्ष भारी भीड़ और धक्का-मुक्की का लोगों को सामना करना पड़ रहा है।

आपको बता दे, ओंकारेश्वर में आज दो बड़े आयोजन होंगे। खास बात ये है कि ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग महादेव मंदिर में भगवान के मूल स्वरूप का फूल और सूखे मेवें से महाश्रृंगार शाम में होंगा। वहीं भगवान ममलेश्वर महादेव का नर्मदा नदी के गोमुख घाट पर 251 लीटर दूध से महा अभिषेक होगा। इसके तहत शाम 4.30 बजे दोनों ही भगवानों की सवारी पंडित, पुजारी व कर्मचारी के द्वारा ही निकाली जाएगी। नौका विहार के बाद भगवान वापस मंदिर पहुंचेंगे।