नई दिल्ली। किसानों के कृषि कानूनों के खिलाफ भारत बंद (Bharat Bandh) के दौरान दिल्ली और एनसीआर के इलाकों में लोगों ने भारी जाम लगाया है। इस दौरान दिल्ली गुरुग्राम बॉर्डर (Delhi Gurugram Border) पर सुबह से ही कारों की लंबी कतारें लगी हुई है। कई घंटों बाद भी लोग वाहनों के भीतर ही फंसे रहे। वहीं गाजीपुर बॉर्डर, केएमपी, दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे को भी किसानों ने जाम कर दिया। इससे दिल्ली और नोएडा गाजियाबाद (Noida Ghaziabad) को जोड़ने वाले एनएच-9 और एनएच-24 पर भी भारी जाम लग गया हालांकि अब किसानों ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे को खोल दिया है।

ALSO READ: Indore News : कालोनी के सम्र विकास मुद्दे पर 15 साल पश्चात सम्पन्न होने जा रहा चुनाव

इसके अलावा दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर पर कारों का लंबा रेला रेंगता नजर आया। किसानों ने कुंडली मानेसर एक्सप्रेसवे को भी बाधित कर रखा है। साथ ही गाजीपुर बॉर्डर पर भी यातायात बंद होने से नोएडा गाजियाबाद से दिल्ली जाने वाले लोग प्रभावित हुए। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे (Delhi-Meerut Expressway at Ghazipur border Delhi)को भी किसानों ने जाम कर दिया। वहीं किसानों ने एनएछ-9 और एनएच-24 पर भी भीषण जाम लग गया। हरियाणा के बहादुरगढ़ में रेलवे स्टेशन पर भी किसान रेल ट्रैक पर बैठ गए, जिससे रेलों की आवाजाही पर भी साफ़ साफ़ असर पड़ा।

किसानों ने दिल्ली हरिद्वार हाईवे को भी बंद किया। साथ ही किसानों ने मुज़फ़्फ़रनगर के पास दिल्ली -हरिद्वार highway बंद रहा। जिससे यातायात पर असर पड़ा। इस दौरान सैकड़ों किसानों ने कृषि कानूनों को वापसी को लेकर रेलवे ट्रैक पर भी प्रदर्शन किया। इससे दिल्ली, अंबाला और फिरोजपुर रेलवे डिवीजन पर ट्रेनों की आवाजाही पर असर पड़ा। उत्तर रेलवे (Northern Railway) ने कहा कि अंबाला, फिरोजपुर डिवीजन पर 25 ट्रेनों की आवाजाही पर असर पड़ा है। कालका शताब्दी समेत दो शताब्दी ट्रेनें रद्द करनी पड़ी है। कटरा जाने वाली वंदेभारत एक्सप्रेसवे को भी कैंसल कर दिया गया है। पुरानी दिल्ली और कुछ अन्य स्टेशनों से जाने वाली ट्रेनें भी प्रभावित हुई हैं।