Homeइंदौर न्यूज़स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के संबंध में निर्णय, इंदौर में अब चलेगा 'झोलाछाप...

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के संबंध में निर्णय, इंदौर में अब चलेगा ‘झोलाछाप इंदौरी’ अभियान

आयुक्त प्रतिभा पाल द्वारा स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 को दृष्टिगत रखते हुए, आज रविन्द्र नाटय गृह में समस्त एनजीओ के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 वर्कशॉप का आयोजन किया गया।

आयुक्त प्रतिभा पाल द्वारा स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 को दृष्टिगत रखते हुए, आज रविन्द्र नाटय गृह में समस्त एनजीओ के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 वर्कशॉप का आयोजन किया गया। इस अवसर पर अपर आयुक्त संदीप सोनी, कार्यपालन यंत्री अनुप गोयल, अधीक्षण यंत्री महेश शर्मा, स्वच्छता ब्राड एम्बेसेटर डॉ. पुनित द्विवेदी, समस्त एनजीओ के हेड, झोनल हेड, एनजीओ प्रतिनिधि व अन्य उपस्थित थे। इस अवसर पर अपर आयुक्त सोनी द्वारा प्रेजेटेशन के माध्यम से स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के मुख्य बिन्दुओ के संबध में कार्यशाला में विस्तार से जानकारी दी गई।

आयुक्त प्रतिभा पाल ने समस्त एनजीओ हेड को संबोधित करते हुए, कहा कि आप सभी को स्वच्छ सर्वेक्षण में किस प्रकार से काम करना है यह बताने की जरूरत नही है यह आप सभी भलीभांति जानते है, इस बार स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 की नवीन गाइड लाईन अनुसार किस प्रकार से हमें स्वच्छता में काम करना है यह सभी आप को कार्यशाला में बताया गया। उन्होने समस्त एनजीओ के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए, कहा कि आप सभी सेग्रिकेशन के तहत 6 बिन प्रतिदिन, एयर क्वालिटि इण्डेक्स, प्लास्टिक मुक्त शहर बनाना, झोलाछाप इंदौरी अभियान चलाना और शहर की स्वच्छता व सुंदरता को बनाये रखना हम सब की प्राथमिकता है।

उन्होने कहा कि कचरा सेग्रिकेशन के तहत 6 बिन प्रतिदिन को ध्यान में रखते हुए, नागरिको को 6 प्रकार से कचरा का संग्रहण कर, निगम के डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहनो में पृथक-पृथक देना और इससे होने वाले लाभ की जानकारी भी जन-जन तक पहुंचाना आपका मुख्य उददेश्य है। इसके साथ ही शहर की एयर क्वालिटि इण्डेक्स को बेहतर बनाने के लिये निगम द्वारा शहर में किसी भी प्रकार के कोयला, लकडी को जलने से रोकने के लिये शहर के विभिन्न संगठनो, होटल, रेस्टोरेनट, मार्केट एसोसिएशन व अन्य से चर्चा की गई है। इस अभियान को सफल बनाने के लिये आप सभी को अपने-अपने आवंटित झोन क्षेत्रो के दुकान, होटल, रेस्टोरेन्ट, ठेले वालो व अन्य को कोयले व लकडी के स्थान पर एलपीजी व सीएनजी में कन्वर्ट करने के प्रेरित करना है। इसके साथ ही क्षेत्र को डस्ट फ्री क्षेत्र बनाने के लिये हेण्ड टू हेण्ड स्वीपिंग अभियान चलाया जावे, किसी भी स्थिति में धुल-मिटटी जमा ना होने से और उसे तत्काल निर्धारित स्थान पर पहुंचाये। साथ ही शहर के विभिन्न स्थाना पर पडे सी एंड डी वेस्ट को निर्धारित स्थान तक पहुंचाने के लिये सुचित करे। साथ ही होम कम्पोस्टिंग के तहत जियो टेकिंग कार्य करने के लिये भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।

आयुक्त पाल ने कहा कि शहर को प्लास्टिक व डिस्पोजल मुक्त बनाने के लिये लोगो को सिंगल युज प्लास्टिक से होने वाले खतरे की जानकारी देना और नागरिको की सुविधा के लिये निगम द्वारा चलाये जा रहे झोलाछाप इंदौरी अभियान से जोडना है, हमारा लक्ष्य है कि इंदौर प्लास्टिक से मुक्त हो और हर इंदौरी अपने साथ झोला या थैला लेकर चले और उसका उपयोग करे। इसके साथ ही शहर के व्यावसायिक क्षेत्रो, मार्केट में दुकानदारो को प्लास्टिक व डिस्पोजल का प्रयोग ना करे और अपने क्षेत्र को जीरो प्लास्टिक क्षेत्र बनाये। इसके साथ ही आयुक्त ने एनजीओ के प्रतिनिधियों से कहा कि वह अपने-अपने झोन/वार्ड क्षेत्र के समस्त स्वास्थ्य अधिकारी, सीएसआई व दरोगा के साथ मिलकर क्षेत्र के खाली प्लॉट, खुली भूमि व अन्य स्थानो पर सफाई मित्रो को समझाईश दे व प्रेरित करे कि किसी भी प्रकार का कचरा किसी भी स्थिति मे ना जले, किसी भी सफाई मित्र द्वारा कचरा जलाये जाने पर उनके विरूद्ध सख्त कार्यवाही भी की जावेगी। इसके साथ ही आयुक्त द्वारा समस्त एनजीओ के प्रनिधियों को आगामी स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 की गाइड लाईन के अनुसार कार्यवाही पूर्ण करने के संबध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular