दिल्ली सरकार ने कोविड 19 को लेकर एक बेहद गंभीर फैसला लिया जिसके तहत सरकारी स्कूल (Government teacher) के सभी शिक्षक 31 दिसंबर से 15 जनवरी तक दिल्ली एयरपोर्ट पर तैनात रहेंगे। ताकि एयरपोर्ट पर यात्रियों द्वारा कोविड गाइडलाइन (Covid Guideline) का पालन सुनिश्चित कराया जा सके। दिल्ली में इस दौरान शीतकालीन अवकाश के चलते स्कूल बंद रहेंगे। ऐसे में विदेश से भारत आने वाले यात्रियों को कोविड से बचाव के लिए गाइडलाइंस का पालन कराने के लिए शिक्षकों की तैनाती होगी।

गौरतलब है कि कुछ देशों में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली में अधिकारी खुद यहां के सभी सरकारी अस्पतालों का दौरा करेंगे और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए उनकी तैयारियों का जायजा लेंगे। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी।

इसके साथ ही केंद्र सरकार के निर्देश के अनुपालन में मंगलवार को दिल्ली के सभी सरकारी अस्पतालों में ‘मॉक ड्रिल’ का आयोजन किया जाएगा। इस संबंध में एक अधिकारी ने कहा कि दिल्ली के स्वास्थ्य सचिव अमित सिंगला ने रविवार सुबह सभी जिलाधिकारियों के साथ बैठक की और उन्हें सभी अस्पतालों का दौरा करने तथा वहां बिस्तरों की उपलब्धता एवं उपकरणों की सूची तैयार करने का निर्देश दिया।

Also Read : Gujrat : शर्मनाक! बेटी का अश्लील वीडियो वायरल करने का विरोध करने पर BSF जवान की हत्या

बता दें कि जब से दिल्ली एयरपोर्ट पर कोरोना टेस्टिंग शुरू हुई है, तब से विदेश से आने वाले कई यात्री कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं। दिल्ली सरकार ने शिक्षकों की तैनाती की पहल इसलिए की है कि एयरपोर्ट के बाहर आम लोगों में घुलने-मिलने पर कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए यह पहल की गई है।