पंचायत चुनाव में फहराया कांग्रेस का परचम, 386 प्रत्याशियों ने दर्ज की जीत

भाजपा ग्राम पंचायत चुनाव में बुरी तरह से हार जाने के बावजूद इस तरह की अफवाहें फैला रही है कि उसने पंचायत चुनाव में जीत हासिल की है। भाजपा के इस दुष्प्रचार का मुंहतोड़ जबाव देने के लिए कांग्रेस पार्टी सभी जिलों के जिला पंचायत सदस्यों का ब्यौरा सार्वजनिक कर रही है।

MP Panchayat Election: प्रदेश में पिछले दिनों हुये पंचायत के चुनावों में कांग्रेस समर्थित प्रत्याशियों ने जबरदस्त जीत हासिल की है। प्रदेश की 875 जिला पंचायत सीटों में से कांग्रेस समर्थित प्रत्याशियों ने 386 सीटों पर जीत दर्ज की है। वहीं भाजपा समर्थित प्रत्याशियों को 360 सीटों पर ही कामयाबी मिली है। इसके अलावा 129 सीटों पर निर्दलीय प्रत्याशी जीते हैं, जिनमें से बड़ी संख्या में कांग्रेस रूझान के प्रत्याशी शामिल हैं। मप्र कांग्रेस कमेटी के महामंत्री और प्रशासन प्रभारी राजीव सिंह ने आज जारी एक बयान में यह बात कही।

सिंह ने कहा कि भाजपा ग्राम पंचायत चुनाव में बुरी तरह से हार जाने के बावजूद इस तरह की अफवाहें फैला रही है कि उसने पंचायत चुनाव में जीत हासिल की है। भाजपा के इस दुष्प्रचार का मुंहतोड़ जबाव देने के लिए कांग्रेस पार्टी सभी जिलों के जिला पंचायत सदस्यों का ब्यौरा सार्वजनिक कर रही है। शुरूआत में कांग्रेस पार्टी ने संवैधानिक मर्यादाओं का पालन करते हुए कोई सूची जारी नहीं की थी, क्योंकि पंचायत के चुनाव दलीय आधार पर नहीं होते।

सिंह ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान सरकार ने अपनी तरफ से पुलिस, पैसा और प्रशासन का जमकर दुरूपयोग किया और पंचायत चुनावों को प्रभावित करने की पूरी कोशिश की। उन्होंने कहा कि इसके बावजूद भी मुख्यमंत्री के गृहजिले सीहोर तक में भाजपा जीत दर्ज नहीं कर सकी। यदि प्रशासन का दुरूपयोग नहीं किया जाता तो कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी कम से कम 450 सीटों पर जीत दर्ज करते।

Must Read- मध्य प्रदेश जिला पंचायत चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद कांग्रेस नेता ने बीजेपी पर जमकर साधा निशाना, कही यह बात

सिंह ने बताया कि जनपद पंचायत अध्यक्ष को लेकर स्थिति पूरी तरह स्पष्ट नहीं हुई है, लेकिन शुरूआती आंकलन के मुताबिक कांग्रेस पार्टी कम से कम 125 जनपद पंचायतों में अपना अध्यक्ष बनाने की स्थिति में है। उन्होंने कहा कि पूरे आंकड़े सामने आने के बाद इस संख्या में अप्रत्याशित बढ़ोत्तरी हो सकती है।

सिंह ने कहा कि पंचायत चुनाव में गांव की जनता ने पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ के नेतृत्व में विश्वास जताया है। इसी तरह 17 और 20 जुलाई को होने वाली नगरीय निकाय चुनाव की मतगणना में भी जनता नया इतिहास लिखने वाली है और अधिकतर नगर निकाय पर कांग्रेस का झंडा फहरायेगा।