कांग्रेस (Congress) पार्टी के अध्यक्ष पद के चुनाव (President Election) के लिए आज उम्मदीवारों के नामांकन का आखिरी दिन है। ऐसे में राजनैतिक गलिहारों में इसको लेकर विशेष गहमागहमी का माहौल है। लगातार परिवर्तित होते घटनाक्रम में आज कई उम्मीदवारों ने अपना नामांकन कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय मुख्यालय में दाखिल किया। शशि थरूर और के इन त्रिपाठी के नामांकन के साथ ही पूर्व मंत्री मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी अपना नामांकन इस चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी के मुख्यालय में दाखिल किया है।

 

Also Read-ज्यादा प्रोटीन भी है खतरनाक, इंदौर मैराथनर्स द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बोले अमेरिका के न्यूट्रिशन एक्सपर्ट ललित कपूर

खड़गे का पलड़ा भारी

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए होने वाले चुनाव में पूर्व मंत्री और गाँधी परिवार के खास मल्लिकार्जुन खड़गे का पलड़ा बाकी सभी उम्मीदवारों से ज्यादा भारी दिखाई दे रहा है। गाँधी परिवार के वफादार और कट्टर कांग्रेसी के रूप में मल्लिकार्जुन खड़गे पार्टी में एक महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं और साथ ही विवादों से उनका नाता भी कुछ खास नहीं रहा है।

दिग्गी राजा की छवि आई आड़े

सूत्रों की माने तो मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के कद्दावर नेता दिग्विजय सिंह ने अपना नामांकन कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए दाखिल करने का इरादा त्याग दिया है। मल्लिकार्जुन खड़गे का नाम सामने आने के बाद दिग्विजय सिंह ने अपना इरादा बदल दिया, जबकि कल ही वे पार्टी मुख्यालय पर नामांकन का फार्म लेने पहुंचे थे और बहुत ही ज्यादा उत्साहित इस चनाव को लेकर नजर आ रहे थे। सूत्रों के अनुसार दिग्गी राजा अब खड़गे के प्रस्तावक के रूप में अपना फर्ज निभाएंगे। लेकिन सूत्रों की माने तो कांग्रेस पार्टी के आलाकमान गाँधी परिवार दिग्गी राजा की वफादारी पर तो शक नहीं कर रहा, मगर उनकी छवि के आधार पर फ़िलहाल वे कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए गाँधी परिवार की पसंद नहीं बन पा रहे हैं।