Colours For Happiness : इन रंगों से दूर करें नकारात्मक प्रभाव और बुरे विचारम ये बीमारियां भी होगी खत्म

Colours For Happiness : हमारे जीवन में रंगों (Colors) का काफी महत्व बताया गया है। व्यक्ति किस रंग के कपड़े पहनता है उससे ही उसके व्यक्तित्व को समझा जा सकता है।

Colours For Happiness : हमारे जीवन में रंगों (Colors) का काफी महत्व बताया गया है। व्यक्ति किस रंग के कपड़े पहनता है उससे ही उसके व्यक्तित्व को समझा जा सकता है। दरअसल, रंग के ऊपर कई शोध किए गए है। जिससे पता चलता है कि अलग-अलग तरह के रंग अलग-अलग ग्रहों के अशुभ और नकारात्मक प्रभाव को दूर करने में काफी ज्यादा सहायक है।

इसलिए जीवन में रंगों को काफी ज्यादा महत्व माना जाता है। रंगों के इस्तेमाल से शरीर और घर पर पड़ने वाले नकारात्म प्रभाव को दूर किया जा सकता हैं। साथ ही कई बिमारियों से भी ये छुटकारा दिलवाने में मदद करते है। ऐसे में आज हम आपको ज्योतिषों के मुताबिक कौनसे रंग का इस्तेमाल करना चाहिए उसके बारे में बताने जा रहे हैं तो चलिए जानते है –

अंक ज्योतिष की बात करें तो आपके ऊपर एक अंक का प्रभाव कम हो तो आप सुनहरा पीला, गुलाबी या भूरे रंग का उपयोग कर सकते हैं। वहीं किसी पर अगर एक अंक का प्रभाव कम होता है तो आंख, हड्डी या हृदय के रोग होने की आशंका रहती है। इसके अलावा अगर किसी व्यक्ति की जन्म पत्री में गुरु की स्थिति अच्छी नहीं हो तो उसे लीवर से संबंधित बीमारियां, वंश की वृद्धि में कमी और ज्ञान की कमी हमेशा रहती है।

Must Read : Ranjeet Hanuman में रंग और फूलों की पंखुड़ियों से मनाया गया फाग उत्सव

वहीं केसरिया रंग, पीला या क्रीम कलर का उपयोग उन व्यक्तियों को करना चाहिए। इसके साथ ही अगर जन्मपत्री में राहु कमजोर हो या 4 अंक का प्रभाव कम होता है तो लकवा, पोलियो जैसी बीमारियां इंसान को हो सकती है। ऐसे में नीले रंग का इस्तेमाल अच्छा माना जाता है।

कहा जाता है कि अगर किसी का बुध ग्रह कमजोर हो तो उसमे बुद्धि विवेक की कमी रहती है। ऐसे में उस व्यक्ति को जितना हो सके उतना हरे रंग का इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसे में अगर केतु की स्थिति कमजोर हो तो उसे घाव, जख्म, फोड़े-फुंसी होने की शिकायत हमेशा बनी रहती है। ऐसे में उस व्यक्ति को धूसर रंग का प्रयोग करना चाहिए।

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं।