Indore की गलियों में ठेला लेकर निकले CM शिवराज, नागरिकों ने बढ़ चढ़कर किया सहयोग

अडॉप्ट ऍन आंगनवाड़ी सुपोषित और शिक्षित भविष्य के लिए इस अभियान में छोटे-छोटे बच्चों ने अपनी गुल्लक भी दान में दी। जब मुख्यमंत्री चौहान लोधीपुरा की गली नम्बर 1 में पहुँचे तो यहाँ ऐसा माहौल बना हुआ था, मानो कोई उत्सव हो।

Indore: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार को इंदौर स्थित लोधीपुरा की एक नम्बर गली से आँगनवाड़ी गोद लें अभियान के तहत ठेला लेकर निकले। इस दौरान उन्हें यहां की जनता ने खुले हाथों से खिलौने के अलावा ऐसी सामग्री और उपहार भेंट किये, जिनको पाकर मुख्यमंत्री चौहान अभिभूत हो गए। यहां न सिर्फ सामग्री और खिलौने भेंट किये, बल्कि कई नागरिको ने लाखों की राशि के चेक भी प्रदान किये। अडॉप्ट ऍन आंगनवाड़ी सुपोषित और शिक्षित भविष्य के लिए इस अभियान में छोटे-छोटे बच्चों ने अपनी गुल्लक भी दान में दी। जब मुख्यमंत्री चौहान लोधीपुरा की गली नम्बर 1 में पहुँचे तो यहाँ ऐसा माहौल बना हुआ था, मानो कोई उत्सव हो। माता-बहनें अपने घरों के बाहर दान की जाने वाली सामग्रियों की जैसे स्टॉल बनाकर रखी थी। महिलाएं सजधज कर इस पवित्र अभियान में पलक पावड़े बिछाकर बेसब्री से इंतजार में थी।

 

Must Read- Indore: रंग लाई मुख्यमंत्री चौहान की पहल, दानदाताओं ने आंगनवाड़ियों के लिये दिए इतने करोड़ 

इस अभियान के दौरान विधायक मालिनी गौड़ पूरे समय साथ रही। इस अवसर पर जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, सांसद शंकर लालवानी, इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष जयपाल सिंह चावड़ा, विधायक रमेश मेंदोला, महेन्द्र हार्डिया, आकाश विजयवर्गीय, पूर्व विधायक मनोज पटेल, जीतू जिराती, गौरव रणदिवे, संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा, कलेक्टर मनीष सिंह और बड़ी संख्या में नागरिकगण मौजूद थे।

गैलरी और खिड़कियों से बरसाए फूल

लोधीपुरा की तंग गली से मुख्यमंत्री gचौहान जब ठेला लेकर निकले तो यहां की माता-बहनों ने 2-2 व 3-3 मंजिला गैलरी और खिड़कियों से खूब फूल बरसाए। गली में कोई हाथों में खिलौने तो कोई एलईडी, पंखे, पुस्तकें, कपड़े, पानी की केन, टेडीबियर, हाथी घोड़े तो कोई बेग दान करने के लिए निकल पड़े। इस अभियान में नागरिकों ने तरह-तरह के खिलौने व उपहार भेंट करने में कोई कसर नही छोड़ी।

कलेक्टर के निर्देशों पर दान में आयी सामग्री पहुँचाई जाएगी

मुख्यमंत्री चौहान ने लोधीपुरा के नरसिंह बाजार से सीतला माता बाजार तक ठेला चलाकर सामग्री एकत्रित की। सामग्री की इतनी मात्रा थी कि मुख्यमंत्री चौहान को कहना पड़ा कि सामग्री को वाहनों में ही रहने दें। इसे कलेक्टर के निर्देशों पर आँगनवाड़ियों तक पहुँचाया जाएगा। सीतला माता बाजार में बनाये गए मंच से सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मैं अभिभूत हूं, एक आव्हान पर इतनी सामग्री आ गई। वास्तव में इंदौर अद्भुत शहर है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संबोधन के दौरान कहा कि आँगनवाड़ियों के कई बच्चे अंडरवेट है, वो कुपोषण के शिकार है। यह सिर्फ आँगनवाड़ी कार्यक्रताओं की जिम्मेदारी नहीं है, इसलिये समाज से आव्हान करने निकला हूं। इंदौर की जनता से आव्हान है कि वे अपने जन्मदिन सालगिराह या किसी खुशी के अवसर पर कुपोषित बच्चों को दूध या केला खिलाये। साथ ही सक्षम जिले अन्य पिछड़े हुए जिलों के लिए सामग्री भेंट करें।