ऑनलाइन गेम को लेकर सख्त हुआ बाल आयोग, टीचर-पैरेंट्स को दी ये सलाह

ऑनलाइन गेम के एडिक्ट हो रहे बच्चों को लेकर हाल ही में बाल आयोग ने सख्ती दिखाई है। बताया जा रहा है कि बाल आयोग ने ऑनलाइन गेम पर रोक लगानी की कवायद की है।

भोपाल : ऑनलाइन गेम के एडिक्ट हो रहे बच्चों को लेकर हाल ही में बाल आयोग ने सख्ती दिखाई है। बताया जा रहा है कि बाल आयोग ने ऑनलाइन गेम पर रोक लगानी की कवायद की है। इसके लिए बाल आयोग ने एसओपी भी जारी की है। बाल आयोग द्वारा कहा गया है कि स्कूलों को ये बताना होगा की कितनी देर ऑनलाइन क्लास चलेगी।

साथ ही क्लास शुरू करते समय टीचर पैरेंट्स को क्लास स्टार्ट होने और अवधि की जानकारी देनी होगी। बता दे, कहा गया है कि क्लास खत्म होने के बाद भी और मोबाइल पर होमवर्क दिया है तो यह भी जानकारी देकर बताया जाएगा।

इससे पैरेंट्स को पता चेलगा बच्चा गेम खेल रहा या नही। बाल आयोग की पेरेंट्स को सलाह ये है कि जब भी बच्चों का काम खत्म हो जाए उसके बाद वह बच्चों से मोबाइल ले ले। दरअसल, बीते दिन ऑनलाइन गेम की वजह से एक 11 साल के बच्चे ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी।