नई दिल्ली। 2002 के गुजरात दंगे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) पर बनाई गई बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री पर विवाद हो रहा है। केंद्र सरकार ने PM मोदी की आलोचना वाली बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री शेयर करने वाले ट्वीट ब्लॉक करने का आदेश दे दिया है। इस डॉक्यूमेंट्री के YouTube के लिंक जिन ट्वीट के जरिए शेयर किए गए हैं उनको भी ब्लॉक कर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक, ये आदेश आईटी नियम 2021 के तहत आपातकालीन शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए दिया गया है।

इस डॉक्यूमेंट्री पर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं। बीबीसी की इस डॉक्यूमेंट्री को लेकर ब्रिटेन में रहने वाले भारतीय मूल के लोगों में भी आक्रोश है। लोग इसे बड़ी साजिश का हिस्सा बता रहे हैं। बताया जा रहा है कि मंत्रालय (Ministry) ने आदेश दिया है कि यूट्यूब पर शेयर किए गए बीबीसी डॉक्यूमेंट्री (BBC documentary) के पहले एपिसोड के सभी वीडियो ब्लॉक किए जाए।

Also Read – पूरी हुई फिल्म ‘इमरजेंसी’ की शूटिंग, कंगना रनौत ने कहा- फिल्म के लिए गिरवी रखी प्रॉपर्टी

जानकारी के लिए आपको बता दे कि, यह डॉक्यूमेंट्री ब्रिटेन के पब्लिक ब्रॉडकास्टर ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन (BBC) की ओर से बनाई गई है। पीएम मोदी पर बीबीसी द्वारा रिलीज की गई डॉक्यूमेंट्री पर विदेश मंत्रालय ने कहा है कि हमें लगता है कि यह एक प्रचार सामग्री है, जिसे एक विशेष कहानी को आगे बढ़ाने के लिए बनाया गया है।

ट्विटर ने भी अन्य प्लेटफॉर्म पर वीडियो के लिंक वाले ट्वीट्स की पहचान करने और उन्हें ब्लॉक करने का निर्देश दिया है। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने इसके लिए निर्देश जारी किए हैं। उधर, रिटायर जज और रिटायर अधिकारियों ने बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री के खिलाफ एक पत्र लिखा है। इसके अलावा ट्विटर को भी आदेश दिया गया है कि वह इस डॉक्यूमेंट्री के पहले एपिसोड के यूट्यू लिंक वाले 50 से ज्यादा ट्वीट ब्लॉक करे।