बच्ची के रोने पर दिया तीन तलाक, पुलिस ने दर्ज किया मामला

0

तीन तलाक का कानून बनाए जाने के बाद एक के बाद एक मामले सामने आ रहे हैं। छत्तीसगढ मे तीन तलाक के मामले मे प्रकरण दर्ज होने के बाद अब मध्यप्रदेश के सेंधवा में भी तीन तलाक का का प्रकरण नए कानून में दर्ज हो गया है। यहां एक व्यक्ति ने आधी रात को बच्ची के रोने की आवाज से नाराज होकर तीन तलाक दे दिया था। मामले मे पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है।

मामला सेंधवा की उज्मा अंसारी का है। उज्मा की इंदौर के रहने वाले अकबर नाम के युवक से 2017 में शादी हुई थी। शादी के बाद से ही पति और ससुराल वाले उसे दहेज को लेकर प्रताडित करते रहते थे। उज्मा ने लड़की को जन्म दिया तो उसके साथ ससुराल वाले उसे और भी ज्यादा प्रताडित करने लगे। पति और सास-ससुर मारपीट कर लगातार धमकाते रहे। 4 अगस्त की रात  2 बजे अचानक बच्ची रोते हुए नींद से जाग गई तो उज्मा के पति ने उसके साथ मारपीट कर डाली। बच्ची को पलंग से नीचे फेंक दिया। बात यहीं नही रुकी पति अकबर ने तीन बार तलाक बोल कर तलाक दे दिया। तलाक के बाद पीड़िता उज्मा सेंधवा अपने घर वापस आ गई। उज्मा अपने साथ हुए अन्याय के खिलाफ लड़ते हुए सेंधवा शहर थाने पर पहुंची जहां पुलिस ने मामले में धारा 498(A) घरेलू हिंसा और मुस्लिम महिला विवाह निरपेक्ष अधिनियम की धारा 4 के तहत एफआईआर दर्ज कर ली।