MPTET चयनित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर, वैधता-न्यूनतम प्राप्तांक पर आई अपडेट, जल्द देखें

मध्य प्रदेश के शिक्षक वर्ग के लिए ये साल बहुतअच्छा साबित हो सकता है। दरअसल, कई पदों पर शिक्षक भर्ती की प्रक्रिया आयोजित की जा रही है। इसके अलावा नवीन शिक्षक संवर्ग की भर्ती को लेकर तैयारी शुरू कर दी गई है।

मध्य प्रदेश के शिक्षक वर्ग के लिए ये साल बहुतअच्छा साबित हो सकता है। दरअसल, कई पदों पर शिक्षक भर्ती की प्रक्रिया आयोजित की जा रही है। इसके अलावा नवीन शिक्षक संवर्ग की भर्ती को लेकर तैयारी शुरू कर दी गई है। जानकारी के लिए बता दें शिक्षक भर्ती (MP Teacher Recruitment) और MPTET Canndidate पात्रता अवधि को लेकर बड़ी अपडेट सामने आई है। दरअसल मध्य प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा की वैधता अवधि (Validity Period of Madhya Pradesh Teacher Eligibility Test) में संशोधन किया गया है जिसके लिए संबंधित संशोधन को मध्यप्रदेश राजपत्र में प्रकाशित कर दिया गया है।

दरअसल बीते दिनों स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने इसकी घोषणा की थी। अपने बयान में स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा है कि जिन उम्मीदवारों की पात्रता समाप्त हो रही है, उसे अगले महीने बढ़ा दिया जाएगा। इतना ही नहीं स्कूल शिक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि मध्यप्रदेश में हर साल शिक्षकों की भर्ती होगी। बता दें कि सीएम राइज स्कूलों में भी रिक्त पदों पर शिक्षकों की भर्ती की प्रक्रिया के अनुसार की जा रही है। अतिथि शिक्षकों को आमंत्रित किया जाए किसी भी स्थिति में ऑफलाइन रूप में अतिथि शिक्षकों को आमंत्रित नहीं किया जाएगा। इसी बीच शिक्षक पात्रता परीक्षा संघ के संयोजक रणजीत गौर ने सीएम राइज स्कूल के शेष रिक्त पदों पर शिक्षक पात्रता परीक्षा 2018 उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थियों से मेरिट के आधार पर सीधी भर्ती कराने की मांग कर दी है।

Also Read – 48 की उम्र में भी Malaika Arora यंग एक्ट्रेस को देती है टक्कर, तस्वीरो में दिखा ग्लैमरस लुक

अब इस संबंध में मध्यप्रदेश राजपत्र में संशोधन प्रकाशित कर दिया गया है। जिसमें 26 जुलाई 2022 क्रमांक 398 के अनुसार मध्य प्रदेश राज्य स्कूल शिक्षा सेवा शैक्षणिक संवर्ग सेवा शर्त और भर्ती नियम 2018 में संशोधन किया गया है। सेवा शर्त-भर्ती नियम 2018 के नियम 111 के उप नियमों में परिवर्तन किया गया है। वही जानकारी के लिए बता दें MPTET वैधता अवधि 3 वर्ष अथवा आगामी परीक्षा तिथि। जिसे बढ़ाकर 5 वर्ष किया गया है यानी अब अगली पात्रता परीक्षा तक चयनित शिक्षकों की वैधता अवधि को बनाया गया है। इसके साथ ही चयनित शिक्षकों के सेकंड राउंड काउंसलिंग का भी रास्ता साफ हो गया है।