Pension नियमों में हुआ बड़ा बदलाव, जानें किसको मिलेगा लाभ

प्रदेश सरकार ने 1 जुलाई से सभी पात्र व्यक्तियों को पेंशन देने का ऐतिहासिक फैसला किया है

ऊना: पेंशन को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है। दरअसल प्रदेश सरकार ने बुढ़ापा पेंशन की आयु सीमा को घटाकर 60 वर्ष कर दिया है । जिला ऊना में नए 11,143 पात्र व्यक्तियों को पेंशन मिलने जा रही है। लेकिन पेंशन की आयु सीमा को 70 साल से घटाकर 60 साल कर दिया है। इस फैसले का स्वागत करते हुए राज्य वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि “नए 11,143 व्यक्तियों को बुढ़ापा पेंशन प्रदान करने के साथ-साथ जिले में 592 विधवा पेंशन, 346 दिव्यांगता पेंशन, एक व्यक्ति को कुष्ठ रोगी पुनर्वास भत्ता देने की स्वीकृति मिली है’।

महिला एवं बाल विकास विभाग को 30 जून तक सभी पात्र व्यक्तियों का डाटा अपलोड करने के निर्देश दिए गए थे। जिसके बाद जिला कल्याण अधिकारी, सभी तहसील कल्याण अधिकारियों के साथ उनकी टीम ने बेहतर कार्य करते हुए, समय सीमा के भीतर इस काम को पूरा किया और अब सभी पात्र व्यक्तियों को 1 जुलाई 2022 से पेंशन मिलने जा रही है।

Must Read- झारखंड: पुरानी पेंशन योजना जल्द ही होगी लागू, सरकार कर रही विचार

जिला ऊना में पेंशन की बात करे तो अब तक कुल 58,108 व्यक्तियों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन का लाभ मिल रहा है। वृद्धावस्था पेंशन वालों की संख्या बढ़कर 36877 हो गई है, तो वहीं अतिरिक्त 6240 व्यक्तियों को इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन, 2212 को इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन, 7330 को विधवा पेंशन, 58 को इंदिरा गांधी राष्ट्रीय अपंगता पेंशन, 5334 को अपंग राहत भत्ता, 64 को कुष्ठ रोग भत्ता तथा 11 को ट्रांसजेंडर पेंशन दी जा रही है।

राज्य वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने आगे कहा कि ‘पिछले साढे 4 वर्ष में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अनेकों जनकल्याणकारी निर्णय लिए हैं। जिनका लाभ आज प्रदेश की जनता को मिल रहा है। प्रदेश सरकार ने 1 जुलाई से सभी पात्र व्यक्तियों को पेंशन देने का ऐतिहासिक फैसला किया है’।