राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) के राष्ट्रीय प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में ‘जनजातीय गौरव दिवस’ के अवसर आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित हुए। इस दौरान उन्होंने सभा में उपस्थित सभी लोगों के साथ ही देश के सभी नागरिकों सम्बोधित करते हुए जबरन धर्मांतरण को लेकर अपनी चिंता व्यक्त की। इस दौरान उन्होंने कहा कि कुछ लोग हमारी मासूमीय का फायदा उठाकर हमें ठगने की फ़िराक में रहते हैं, जिसे लेकर अब हमें विशेष सतर्कता रखने की जरूरत है, साथ ही संघ प्रमुख ने कहा कि अब हमें मजबूत बनना होगा, जिससे कोई हमारी सांस्कृतिक धरोहर को नुकसान ना पहुंचा पाए और हमारी अखंडता प्रभावित ना हो। इस दौरान संघ प्रमुख ने कहा की हमें अपने धर्म और संस्कृति पर दृढ़ रहने की आवश्यकता है, क्योकिं अपनी जड़ों से अलग होकर मानव का कोई अस्तित्व शेष नहीं बचता है।

Also Read-सुप्रसिद्ध कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा की कथा में पहुंचा विषधर सांप, जय नाग देवता के नारों के साथ बोले भक्त ‘श्री शिवाय नमस्तुभ्यम’

भूपेश बघेल बोले सबसे अधिक धर्मांतरण बीजेपी के राज में हुए

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने संघ प्रमुख मोहन भागवत के इस सम्बोधन को लेकर पलटवार करते हुए कहा है कि संघ प्रमुख को इस बात पर गौर करना चाहिए कि छत्तीसगढ़ में सर्वाधिक चर्चों का निर्माण और जबरन धर्मांतरण भारतीय जनता पार्टी की सरकार के रहते ही संभव हुए हैं। छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा की पूर्व सीएम रमन सिंह के 2003 से 2018 के शासन काल के दौरान कितने चर्चों का निर्माण हुआ है, संघ प्रमुख भागवत को इसकी जानकारी निकालना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने संघ प्रमुख भागवत को धर्मांतरण पर कुछ ना ही बोलने की बात भी कही।

Also Read-IMD & mp weather Update : मध्य प्रदेश के इस जिले में 7 डिग्री तक लुढ़का पारा , जानिए किन राज्यों में हुई शुरू कड़ाके की ठंड