ज्योतिष शास्त्र : शनिग्रह 6 माह तक रहेंगे कुम्भ राशि में, जानिए किन राशियों को होगा लाभ

वर्तमान समय में शनिगृह वक्री चाल से चलते हुए कुंभ राशि में विराजमान हैं। अगले छह महीने तक इसी कुम्भ राशि में शनिदेव रहने वाले हैं। अगले छह महीने तीन राशियों पर शनिदेव की विशेष कृपा होने के आसार हैं ।

शनिगृह (saturn) सौरमंडल में वैज्ञानिक आधार पर महत्वपूर्ण होने के साथ ही भारतीय धर्म, संस्कृति और ज्योतिष शास्त्र (Astrology) के भी प्रमुख अंग हैं। शनिगृह की उपस्थिति की दशा विभिन्न ज्योतिष राशियों को विभिन्न स्वरूप में प्रभावित करती है। वर्तमान समय में शनिगृह वक्री चाल से चलते हुए कुंभ राशि में विराजमान हैं। अगले छह महीने तक इसी कुम्भ राशि में शनिदेव रहने वाले हैं।

Also Read-दिल्ली में ‘नो डिटेंशन पॉलिसी’ लागू, इस वर्ष सिर्फ पास होंगे 8 वीं तक के बच्चे, नहीं होगा कोई फेल

ज्योतिषियों का कहना है कि अगले छह महीने तीन राशियों पर शनिदेव की विशेष कृपा होने के आसार हैं ।

मकर राशि –

मकर राशि के स्वामी स्वयं शनिगृह हैं । शनि का यह राशि परिवर्तन मकर राशि के जातकों के लिए बड़ा ही शुभ सिद्ध होने वाला है। मकर राशि के जातकों को आने वाले समय में विशेष आर्थिक लाभ के योग बनेंगे। पढ़ाई, नौकरी, व्यापार-कारोबार, रुका धन प्राप्ति के विषय में मकर राशि के जातकों के लिए सफलता प्राप्त करने का समय है। किसी भी नए कार्य के शुभारम्भ के लिए भी यह समय श्रेष्ठ फलदायी है।

वृषभ राशि

शनिगृह के मकर राशि में प्रवेश के बाद वृषभ राशि के जातकों को भी सकारात्मक परिवर्तन देखने को मिलेंगे । इस दौरान सौभाग्य की उपस्थिति रहेगी और सारे बिगड़े कार्य बनेंगे। नौकरी व्यापार, धन सम्पत्ति विस्तार आदि सभी क्षेत्रों में लाभदायक योग का निर्माण होगा। किसी भी प्रकार के काम की शुरुआत करने के लिए वृषभ राशि के जातकों के लिए यह एक श्रेष्ठ समय है।

सिंह राशि-

शनिगृह के मकर राशि में प्रवेश के बाद आगामी छह महीने सिंह राशि पर भी शनिमहाराज की विशेष कृपा दृष्टी प्राप्त होगी। सभी रुके कार्य सम्पन्न होंगे, आर्थिक लाभ होंगे, स्वास्थ्य बेहतर रहेगा, सभी शत्रु पराजित होंगे तथा पारिवारिक जीवन सुखी रहेगा। सभी प्रकार से विशेष लाभदायक संयोग सिंह राशि के जातकों के लिए बनेंगे, जोकि जातक के जीवन में खुशियों का विस्तार करेंगे।

Also Read-ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद के लिए भारतीय मूल के ऋषि सुनक का मुकाबला है महिला नेत्री पेनी मोर्डेंट से