बीजेपी का मिशन बंगाल के तहत आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह अपने दो दिन के बंगाल दौरे के लिए कोलकाता पहुंच गए हैं। बंगाल में अगले साल होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए अमित शाह का यह दौरा काफी अहम माना जा रहा है। बीजेपी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह के दौरे से पहले बंगाल की प्रमुख पार्टी माने जाने वाली टीएमसी में सियासती उठा-पटक जा सिलसिला शुरू हो गया है।

अभी ऐसी कयास जताये जा रहे है की टीएमसी के कई बड़े एवं लोकप्रिय नेता बीजेपी में शामिल हो सकते है, अगर ऐसा होता है तो यह ममता बनर्जी के लिए चुनाव के पहले एक बड़ा झटका हो सकता है। टीएमसी पार्टी के नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री सुवेंदु अधिकारी, शीलभद्र दत्ता और जितेंद्र तिवारी जैसे बड़े नेता अपनी पार्टी के रैवैये को लेकर नाराज थे और उन्होंने पार्टी से अपना इस्तीफा भी दे दिया है, अब इन सभी नेताओं की शाह के नेतृत्व में बीजेपी शामिल होने की उम्मीद जताई जा रही है।

टीएमसी में तफरा तफरी तेज
अमित शाह के इस दौरे के पूर्व टीएमसी पार्टी में सियासत गरमा गई है। पार्टी से नाराज चल रहे नेता लगातार अपना इस्तीफा दे रहे है। ममता बनर्जी अपने मंत्रियो को बचाने के प्रयास में लगी हुई है। टीएमसी पार्टी की विधायक बनासरी मैती ने भी पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया है। वो शुभेंदु अधिकारी की समर्थक मानी जाती है। और वो मिदनापुर जिले की कांति उत्तर से विधायक हैं।