प्रधानमंत्री पथ विक्रेता आत्मनिर्भर योजना का 31 दिसंबर तक सभी हितग्राहियों को मिलेगा लाभ, दिए गए निर्देश

आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल द्वारा प्रधानमंत्री पथ विक्रेता आत्मनिर्भर (स्वनिधि) योजना की सीटी बस आफिस में समीक्षा बैठक ली गई।

इंदौर। आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल द्वारा प्रधानमंत्री पथ विक्रेता आत्मनिर्भर (स्वनिधि) योजना की सीटी बस आफिस में समीक्षा बैठक ली गई। बैठक में शहर के विभिन्न बैंकों जिसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक, केनरा बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदा, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के अधिकारियों एवं प्रतिनिधियों, बैंक ऑफ इंडिया के जिला अग्रणी प्रबंधक ,अपर आयुक्त श्री अभय राजनगांवकर, उपायुक्त नरेंद्र शर्मा, सामुदायिक संगठक, झोनल इंचार्ज एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

आयुक्त सुश्री पाल द्वारा सर्वप्रथम प्रधानमंत्री पथ विक्रेता आत्मनिर्भर स्वनिधि योजना की समीक्षा करते हुए, वर्तमान में कितने हितग्राहियो को योजना का लाभ प्राप्त हो गया है और कितने प्रकरण शेष के संबंध में विस्तार से जानकारी ली गई। आयुक्त सुश्री पाल ने समस्त बैंक प्रतिनिधियों को निर्देशित किया कि प्रधानमंत्री पथ विक्रेता आत्मनिर्भर स्वनिधि योजना के तहह प्राप्त प्रकरणो का समय सीमा में निराकरण कराते हुए, पात्र हितग्राहियो को योजना का लाभ देवे। इसके साथ ही शहरी गरीबी उपशमन विभाग के सामुदायिक संगठक और झोनल इंचार्ज को निर्देशित कि झोन क्षेत्र के ऐसे हितग्राही जिनके द्वारा पूर्व में प्रधानमंत्री पथ विक्रेता योजना के तहत रूपये 10 हजार का लोन व्यवसाय हेतु लिया गया था, और उस लोन की समस्त किश्तो का भी भुगतान किया जा चुका है, ऐसे हितग्राहियो को प्रधानमंत्री पथ विक्रेता आत्मनिर्भर स्वनिधि योजना के तहत रूपये 20 हजार का लोन के संबंध में कॉलिंग करके प्रकरणो को ऑन बोडिंग कराये ताकि पात्र हितग्राहियो को अधिक से अधिक योजना का लाभ प्राप्त हो सके। इसके साथ ही आयुक्त सुश्री पाल द्वारा समस्त संबधित अधिकारियो को समय सीमा में लोन प्रकरणो का निराकरण करने के संबंध में भी निर्देश दिये गये।

must read: मध्यप्रदेश को सिंधिया की एक और सौगात, ये अंतर्राष्ट्रीय उड़ान होगी शुरू

इसके साथ ही आयुक्त ने बैठक में उपस्थित बैंक प्रतिनिधियों को निर्देश दिए है कि ,बैंकर्स जो भी स्वीकृत ओर पिकअप एवम एप्लिकेशन विथ क्लोजर में जो भीं आवेदन लंबित है, इन प्रकरणों में 100 प्रतिशत वितरण 31 दिसंबर 2021 तक करना सुनिश्चित करे। साथ ही सामुदायिक संगठक बैंको में जाकर ऋण वितरण की कार्यवाही कराये तथा झोन प्रभारी मुख्यालय से प्राप्त संभावित हितग्राहियो की सूची में से वार्ड प्रभारियों से कालिंग करते हुए बोर्डिंग कराना सुनिश्चित करे।