Homeइंदौर न्यूज़15 से 18 वर्ष के किशोरों को 3 से 10 जनवरी तक...

15 से 18 वर्ष के किशोरों को 3 से 10 जनवरी तक 100% वैक्सीन लगाने का लक्ष्य

भारत शासन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के निर्देशानुसार मध्यप्रदेश में 3 जनवरी 2022 से 15 से 18 वर्ष के किशोर बालक/बालिकाओं का कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रारंभ(Kovid-19 vaccination of adolescent boys / girls of 15 to 18 years started) किया जा रहा है। इसी तारतम्य में आज सिटी बस ऑफिस के सभाकक्ष में नगर निगम आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल की अध्यक्षता में किशोर बालक-बालिकाओं के टीकाकरण एवं ग्रामीण क्षेत्रों में सेकेण्ड डोज के लिये शेष रह गये व्यक्तियों के वैक्सीनेशन कराने हेतु कार्ययोजना तैयार करने के संबंध में बैठक आयोजित की गई। बैठक में अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री पवन जैन, समस्त एडीएम, एसडीएम, नगर निगम अधिकारी, जनपद पंचायत सीईओ, बीईओ, बीआरसी उपस्थित रहे।

must read: टेक्‍नो ने लॉन्च किया स्पार्क 8 प्रो, जो कैमरे और बैटरी में हैं ‘बाहुबली’ महज इतने रुपयों में बने मालिक

नगर निगम आयुक्त सुश्री पाल ने कहा कि 3 जनवरी से प्रारंभ हो रहे 15 से 18 वर्ष की आयु के बालक-बालिकाओं के वैक्सीनेशन के लिये अभी से सभी जरूरी तैयारियां पूर्ण कर ली जाये। उन्होंने बताया कि उक्त कार्य के लिये वैक्सीनेटर एवं वैक्सीन प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराई जायेगी। वैक्सीनेशन कार्य में पोर्टल पर एंट्री एवं कोविन रजिस्ट्रेशन हेतु सभी विद्यालय जहां वैक्सीनेशन केन्द्र बनाये जा रहे है, उनके नोडल अधिकारी एवं ऑपरेटर को 1 जनवरी 2022 को रवीन्द्र नाट्य गृह में दो सत्रों में प्रशिक्षण दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि समस्त संकुल प्राचार्य भी इस प्रशिक्षण में उपस्थित रहेंगे। नगर निगम आयुक्त सुश्री पाल ने कहा कि इंदौर जिले में 10 जनवरी तक शत-प्रतिशत किशोर बालक-बालिकाओं के टीकाकरण संपन्न कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन अभियान के दौरान महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि स्कूल से ड्रॉपआउड हुये विद्यार्थियों को भी उक्त निर्धारित दिवस पर वैक्सीनेशन कराया जाये।

नगर निगम आयुक्त सुश्री पाल ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में 96 हजार 483 व्यक्तियों को वैक्सीन का दूसरा डोज लगाया जाना शेष है। सभी एसडीएम एवं जनपद पंचायत सीईओ यह सुनिश्चित करें कि इन सभी व्यक्तियों को नियमित कॉलिंग के माध्यम से इनका वेरिफिकेशन कराया जाये कि इन्हें कोविड का दूसरा डोज लगा है कि नहीं। जिन व्यक्तियों को डोज नहीं लगा है, उन्हें चिन्हित कर वैक्सीनेशन करवाया जाये। अपर कलेक्टर श्री जैन ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में आंगवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, पंचायत सचिव आदि की टीम गठित कर डोर टू डोर सर्वे कराया जाये और जिन व्यक्तियों को कोविड वैक्सीन का दूसरा डोज नहीं लगा है उन्हें अनिवार्य रूप से वैक्सीनेट कराया जाये।

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular