शास्त्रों के अनुसार ये चार चीजें पत्नी को देने से देवी महालक्ष्मी होती हैं प्रसन्न

घर की बरकत बनाए रखने के लिए हम क्या कुछ नहीं करते हैं कई तरह तरह के उपाय करते हैं। धार्मिक शास्त्रों में देवी लक्ष्मी के कई रूपों में से एक रूप गृह लक्ष्मी का माना जाता हैं। इस रूप में देवी हर घर में निवास करती हैं। वहीं घर आई बहू या पत्नी को भी हिंदू धर्म में गृह लक्ष्मी ही माना जाता है।

0
112
Jai Laxmi Mata

घर की बरकत बनाए रखने के लिए हम क्या कुछ नहीं करते हैं कई तरह तरह के उपाय करते हैं। धार्मिक शास्त्रों में देवी लक्ष्मी के कई रूपों में से एक रूप गृह लक्ष्मी का माना जाता हैं। इस रूप में देवी हर घर में निवास करती हैं। वहीं घर आई बहू या पत्नी को भी हिंदू धर्म में गृह लक्ष्मी ही माना जाता है। ऐसा कहा जाता हैं कि जिस घर में गृहलक्ष्मी प्रसन्न और खुशहाल रहती हैं उस घर में देवी लक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहती है। देवी लक्ष्मी को खुश रखने के लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं करने की जरूरत नहीं होती। अपनी पत्नी को समय-समय पर 4 तरह के खास उपहार देते रहने से देवी लक्ष्मी खुश रहती हैं और घर पर अपनी कृपा बनाए रखती हैं। साथ ही कई परेशानियों से छुटकारा भी मिल जाता हैं।

वस्त्र भेंट करें
ज्योतिषशास्त्र के साथ साथ पुराणों में भी बताया गया है कि जिस घर में गृहलक्ष्मी खुश रहती हैं, उस घर में देवी लक्ष्मी हमेशा धन धान्य बनाए रखती हैं और जहां गृहलक्ष्मी खुश नहीं रहती हैं और दुखी हो जाती हैं वहां धन की परेशानी और कठिनाइयां अपने आप आ जाती है। इसलिए गृहलक्ष्मी यानी पत्नी को समस-समय पर वस्त्र भेंट करना चाहिए। गृहलक्ष्मी के अलावा बहन, माता या अन्य सुहागन स्त्री को भी वस्त्र देना शुभ माना जाता है।

आभूषण उपहार में दें
शास्त्रों में बताया गया है कि आभूषण के बिना देवी का शृंगार अधूरा रह जाता हैं और देवी की पूजा भी संपन्न नहीं होती। इसलिए देवी की पूजा में आभूषण जरूर चढ़ाया जाता है। आभूषण गृहलक्ष्मी को भी खूब भाता है इसलिए समय-समय पर जैसा भी हो आभूषण उपहार में देना चाहिए। वैसे भी आभूषण से सजी संवरी गृहलक्ष्मी घर की संपन्नता को दर्शाती है।

सुहाग की सामग्री
सुहाग की सामग्री जैसे सिंदूर, बिंदी, चूड़ियां भी उपहार में देने से सौभाग्य बढ़ता है। इससे देवी अति प्रसन्न होती है इसलिए समय-समय पर इन्हें भी उपहार स्वरूप देना चाहिए।

सम्मान और मीठे बोल
गृहलक्ष्मी की प्रसन्नता के लिए ये सब उपहार तो ठीक ही हैं लेकिन सबसे खास उपहार है जिसमें कोई पैसा खर्च नहीं करना होता है वह जरूर दें। यह उपहार है सम्मान और मीठे बोल। अगर आप यह उपहार देते हैं तो मनुस्मृति के अनुसार घर में प्रेम और आनंद भरपूर तो रहेगा ही साथ ही शांति भी बनी रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here