मध्य प्रदेश के बुरहानपुर से एक हैरान करने वाली खबर आई रही है। एक युवक और परिजनों को लगातार मिल रही धमकियों के बाद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। इसके पहले युवक ने रविवार को सीएम हेल्पलाइन पर धमकियों की शिकायत भी कर्यवाई थी। लेकिन कोई कार्यवाही होती उसके पहले ही युवक ने अपनी जान दे दी।

मृतक के घरवालों का कहना है कि राहुल एक प्राइवेट कंपनी में काम करता था। उसे बार-बार धमकियां मिल रही थीं, जिससे वह आहत था। कुछ लोग उसे प्रताड़ित कर रहे थे। इस मामले में समय पर कार्रवाई नहीं हुई, जिसके बाद उसने सुसाइड कर लिया। सोमवार मृतक का जिला अस्पताल में पोस्टमार्टम हुआ, जिसके बाद पुलिस ने शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया। पुलिस इस मामले में गहराई से जांच कर रही है।

घर से बाहर निकलने पर मारने की धमकी

मृतक के मामा के बेटे अश्विन नाइके ने बताया कि चार दिन से राहुल को कुछ युवक धमकियां दे रहे थे। धमकियां क्यों दी जा रही थीं, यह घरवालों को भी नहीं पता है। लेकिन, कुछ लोग लगातार धमकी देकर कह रहे थे कि कब तक घर में छिपा रहेगा, कभी तो बाहर निकलेगा। यह बात उसने घरवालों को बताई थी और पुलिस के अलावा सीएम हेल्पलाइन पर भी इसकी शिकायत की थी।

Also Read : इंदौर शहर में लगेंगे 1.32 लाख स्मार्ट मीटर, दिसंबर में प्रारंभ होगा कार्य

रविवार को जब सीएम हेल्पलाइन की शिकायत पर कार्रवाई के लिए थाने से फोन आया तो राहुल की मां थाने जाने के लिए उसे बुलाने कमरे में गई। उस समय मां ने अपने बेटे को फांसी पर लटका देखा तो गश खाकर गिर पड़ी। परिजन ने राहुल को जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसे मृत घोषित किया गया।

कॉल डिटेल के आधार पर हो रही जांच

फिलहाल पुलिस मृतक युवक की शिकायत और मोबाइल कॉल डिटेल के आधार पर जांच कर रही है। अब देखना होगा कि पुलिस की जांच में कब तक वो अनजाने धमकी देने वाले गिरफ्त में आते हैं। सवाल यह है कि अगर समय रहते कार्रवाई हो जाती तो शायद युवक की जान बच जाती।