कानपुर हिंसा पर योगी सरकार का कड़ा एक्शन, उपद्रवियों पर लगेगा गैंगस्टर एक्ट, संपत्ति होगी जब्त

कानपुर हिंसा पर सख्त एक्शन लेते हुए प्रशासन की ओर से 18 उपद्रवियों को हिरासत में ले लिया गया है. घटना को अंजाम देने वाले आरोपियों पर गैंगस्टर एक्ट लगाया जाएगा.

Kanpur: कानपुर में जुमे की नमाज के बाद हुई हिंसक घटना के बाद एक्शन लेते हुए पुलिस ने 18 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. इस बात की जानकारी यूपी के एडीजी लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार ने दी है और बताया है कि आरोपियों पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई होगी.

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर के मुताबिक बेगमगंज थाना क्षेत्र के नई सड़क इलाके में आज जुमे की नमाज के बाद कुछ लोग दुकानें बंद करवा रहे थे, जिसका दूसरे पक्ष के लोगों ने विरोध किया. इस बात को लेकर दोनों गुट एक-दूसरे से भिड़ गए और पत्थरबाजी शुरू हो गई. सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और स्थिति को नियंत्रण में लेने की कोशिश की. उपद्रवियों ने पुलिस पर भी पत्थर बरसा दिए. जैसे तैसे बल का प्रयोग करते हुए स्थिति को नियंत्रण में लाया गया.

Must Read- Terror Attack In Jammu And Kashmir: अब आतंकियों ने शोपियां में किया हमला, प्रवासी मजदूरों पर फेंका ग्रेनेड

एडीजी ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना के चलते शासन ने गंभीरता से कदम उठाते हुए अतिरिक्त पुलिस बल लगाया. जिसमें 12 कंपनी और एक प्लाटून पीएसी कानपुर भेजी गई है. वरिष्ठ अधिकारियों को भी कानपुर भेजा जा रहा है. जिन लोगों ने उपद्रव किया है उनकी पहचान कर गिरफ्तारी की जा रही है. अब तक 18 लोग गिरफ्त में आ चुके हैं.

एडीजी ने जानकारी दी है कि घटना के वीडियो फुटेज सामने आ गए हैं, जिसके आधार पर उपद्रवियों पर कार्रवाई की जाएगी. उपद्रवियों के अलावा जिन लोगों ने इस घटना का षड्यंत्र रचा है उनके विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट लगाया जाएगा. उनकी संपत्ति को शासन के अधीन ले लिया जाएगा. प्रशासन की ओर से लोगों से शांति बनाए रखने और सहयोग करने की अपील की गई है. अधिकारियों को हर कीमत पर शांति व्यवस्था बनाए रखने और किसी भी स्थिति में शांति भंग नहीं होने के आदेश जारी किए गए हैं.

घटना को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने नाराजगी जताते हुए सख्ती के साथ उपद्रवियों से निपटने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं. वही समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बीजेपी के नेता नूपुर शर्मा को गिरफ्तार करने की मांग की है. अपने ट्वीट में अखिलेश ने कहा है कि नूपुर शर्मा ने जो भड़काऊ बयान दिया है, उसी के वजह से अशांति हुई है. इसके लिए भाजपा के नेता को गिरफ्तार किया जाना चाहिए. उन्होंने सभी से शांति बनाए रखने की अपील की है.