कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए महाकाल मंदिर की व्यवस्था में व्यापक फेरबदल का सिलसिला लगातार जारी है। बताया जा रहा है कि यहां प्रोटोकॉल VVIP भक्तों के लिए अब ई-पास सुविधा शुरू की जा रही है। अब आसानी से भक्त 100 रुपए देकर घर बैठे भी ये पास बनवा सकते हैं। इसके लिए एक अलग से ऑफिस भी खोला जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक, महाकालेश्वर मंदिर में अब जल्द ही वीआईपी श्रद्धालु और प्रोटोकॉल के पात्र महाकाल के भक्त घर बैठे 100 रुपए जमा करके ई पास ले सकते हैं। बता दे, ई पास जारी करने के लिए हरी फाटक ब्रिज के नीचे ग्रामीण हाट बजार में नया प्रोटोकॉल ऑफिस बनाया जा रहा है। ये दफ्तर शुरू होते ही पास बनना शरू हो जाएंगे। कहा जा रहा है कि ये ऑफिस बनने से श्रद्धालुओं के लिए सुविधा भी बढ़ जाएंगी।

ऐसी व्यवस्था रहेगी –

महाकाल मंदिर प्रबंध समिति की बैठक में कलेक्टर आशीष सिंह सहित महाकाल मंदिर के प्रशासक नरेंद्र सूर्यवंशी और पण्डे पुजारियों ने आम सहमति से ये फैसला किया है। वहीं भस्म आरती में इस महीने की 11 तारीख से श्रद्धालुओं को प्रवेश मिलना शुरू हो जाएगा। कहा जा रहा है कि यहां प्रोटोकॉल से दर्शन करने वाले वीआईपी दर्शनार्थियों को 100 रुपए प्रति व्यक्ति भेंट राशि देनी होगी। ऐसे में दर्शन को आसान बनाने के लिए ऑफिस खोला जा रहा है। कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा प्रोटोकॉल के पात्र लोगों को नए कार्यलय से पास मिलने लगेंगे।

ये है प्रोटोकॉल –

महाकालेश्वर मंदिर में दुनिया भर से श्रद्धालु भगवान महाकाल के दर्शन के लिए आते हैं। इनमे से कई लोग वीआईपी होते हैं जिनके लिए दर्शन की अलग व्यवस्था मंदिर समिति ने की है। इन लोगों में संवैधानिक पदों पर आसीन शीर्ष व्यक्ति प्रशासनिक अधिकारी, ज्यूडिशली, राजनेता, मीडिया, साधु संत, मंदिर के पुजारी परिवार सहित ख़ास लोग शामिल हैं। इस केटेगरी के सभी लोगों को ई पास मिलेगा।