मुंबई। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में आसमान से कहर बरस रहा है। जिसके चलते भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के क्षेत्रीय केंद्र ने मुंबई में भारी से बहुत भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया है। साथ ही मुंबई के लिए ‘रेड अलर्ट’ भी जारी कर दिया है। वहीं क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र के प्रमुख डॉ. जयंत सरकार ने कहा कि इससे पहले मौसम विभाग ने ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी किया था, लेकिन अब ‘अनुकूल समसामयिक परिस्थितियों’ के कारण बदलाव के बाद बुधवार के लिए इसे ‘रेड अलर्ट’ कर दिया गया है। महानगर में रविवार और सोमवार को भी भारी बारिश हुई।

सरकार ने कहा कि, ‘‘मुंबई में आज और अगले कुछ दिनों में भारी से बहुत भारी बारिश के लिए दो अनुकूल समसामयिक परिस्थितियां हैं। दक्षिण गुजरात तट से कर्नाटक तट तक कम दबाव के क्षेत्र से बारिश की तीव्रता तेज होने की उम्मीद है।’’ उन्होंने कहा कि दूसरी बात मुंबई तथा पड़ोसी क्षेत्र में बनी ‘‘वायु प्रणालियां’’ हैं। कोंकण तथा मध्य महाराष्ट्र में भी व्यापक पैमाने पर बारिश होगी।

सरकार ने आगे बताया कि मराठावाड़ा क्षेत्र में भी गुरुवार तक व्यापक बारिश होने की संभावना है और इसके बाद बारिश की तीव्रता कम हो सकती है। साथ ही मौसम विज्ञान विभाग कार्यालय के एक अन्य अधिकारी ने जानकारी दी कि महाराष्ट्र तथा कर्नाटक के बीच तट पर कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है जिससे अक्सर अरब सागर से जमीन पर नमी वाली पश्चिमी हवाएं चलती हैं।

आपको बता दें कि, आईएमडी ने मुंबई के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। साथ ही ठाणे और पालघर में भी भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। हालांकि अभी भी नवी मुंबई और पालघर के कुछ हिस्सों में लगातार बारिश हो रही है। कुछ स्थानीय लोगों का कहना है कि उन्हें ऑनलाइन खाना मंगाने में दिक्कत हो रही है। क्योंकि डिलीवरी एजेंट्स या तो मौजूद नहीं हैं या फिर बारिश के चलते उनका सरचार्ज बहुत ज्यादा है। साथ ही अनुमान लगाया जा रहा है कि, आगामी 22 जुलाई तक स्थिति में सुधार की संभावना नहीं है क्योंकि मुंबई, ठाणे, पालघर के लिए पहले से ही ऑरेंज अलर्ट जारी किया जा चुका है। इसका मतलब है कि इन जगहों पर भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है।

वहीं दूसरी ओर लगातार हो रही बारिश की वजह से बीएमसी ने लोगों को किसी आपात स्थिति के अलावा घर पर ही रहने की सलाह दी है। बता दें कि, मुंबई में रविवार को बारिश से जुड़ी घटनाओं के चलते 33 लोगों की मौत सामने आई थी। इसमें से 19 लोग चेंबूर के माहुल इलाके में भूस्खलन के बाद कई घरों पर एक दीवार के गिरने के चलते मारे गए थे। गौरतलब है कि, मुंबई में आसमान से कहर ही बरस रहा है इस दौरान कई लोग अपनी जान गंवा रहे है और सड़के नदियाँ बन गई है।