अमेरिकी सांसदों का भारतीय राजदूत को पत्र, कहा- कश्मीर में पत्रकारों को दें प्रवेश की अनुमति

अमेरिका के छः सांसदों ने देश में भारतीय राजदूत हर्षवर्द्धन शृंगला को पत्र लिखकर मांग की है कि कश्मीर में मौजूद विदेशी पत्रकारों और सांसदों को पहुंच दी जाए। इन सांसदों का दावा है कि भारत की ओर से पेश की जा रही घाटी की तस्वीर उनके सूत्रों से मेल नहीं खाती है।

0
75
Harshvardhan Shringla

नई दिल्ली। अमेरिका के छः सांसदों ने देश में भारतीय राजदूत हर्षवर्द्धन शृंगला को पत्र लिखकर मांग की है कि कश्मीर में मौजूद विदेशी पत्रकारों और सांसदों को पहुंच दी जाए। इन सांसदों का दावा है कि भारत की ओर से पेश की जा रही घाटी की तस्वीर उनके सूत्रों से मेल नहीं खाती है।

अमेरिकी सांसदों ने भारतीय राजदूत से कश्मीर में राजनीतिक और आर्थिक स्थिरता का रोडमैप तैयार किए जाने की बात कही है। पत्र में मांग की गई है कि सभी राजनीतिक बंदियों को तत्काल रिहा किया जाए। शृंगला ने 16 अक्तूबर को अमेरिकी सांसदों से जम्मू कश्मीर की स्थिति के बारे में चर्चा भी की थी। सांसदों ने इन्हीं संदर्भों के चलते ये पत्र लिखा है।

दक्षिण-मध्य एशिया की कार्यकारी सहायक विदेश मंत्री एलिस जी. वेल्स ने बताया कि पत्रकार जम्मू-कश्मीर में गहराई से खबरें कवर की हैं। अंतरराष्ट्रीय रिपोर्टर महत्वपूर्ण हैं। लेकिन, सुरक्षा कारणों के चलते उन्हे कश्मीर जाने में चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा हैं। सही मायने में पारदर्शिता तब होगी जब पत्रकारों और कांग्रेस सदस्यों को इस क्षेत्र में स्वतंत्र रूप से जाने दिया जाए।

बता दे कि ये पत्र लिखने वाले सांसदों में डेविड एन सिसिलिन, डिना टिटस, क्रिसी हॉलाहन, एंडी लेविन, जेम्स पी. मैकगॉवर्न और सूसन शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here