Breaking News

इंदौर एलन कैरियर इंस्टीट्यूट के दो छात्रों को मिली टॉप-100 में जगह | Indore Allen Career Institute got place in Top-100

Posted on: 30 Apr 2019 18:25 by Surbhi Bhawsar
इंदौर एलन कैरियर इंस्टीट्यूट के दो छात्रों को मिली टॉप-100 में जगह | Indore Allen Career Institute got place in Top-100

इंदौर। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की ओर से देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन-2019 की ऑल इंडिया रैंक और परिणाम सोमवार देर रात को जारी कर दिया गया। परिणाम जारी होने के साथ ही एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट, इंदौर में खुशियों की लहर दौड़ गई। परिणामों में एक बार फिर एलन कैरियर इंस्टीट्यूट के स्टूडेंट्स ने श्रेष्ठता साबित की। जेईई मेन के परिणाम में इंदौर एलन के छात्र अक्षत गुप्ता ने ऑल इंडिया स्तर पर 83 रैंक प्राप्त करके देशभर में इंदौर का नाम रोशन किया है। वहीं, एलेन के ही रोहित देशपांडे को ऑल इंडिया स्तर पर 98 रैंक मिली है। मंगलवार को एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट में प्रेसवार्ता का आयोजन किया गया। इसके बाद विद्यार्थियों ने जश्न मनाया।

टॉप-20 में सात छात्र

एलन निदेशक बृजेश माहेश्वरी ने बताया कि एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के 7 क्लासरूम स्टूडेंट्स ने टॉप 20 में जगह बनाई है। इसमें केविन मार्टिन ने अखिल भारतीय स्तर पर रैंक 2, जयेश सिंगला ने रैंक 4, निशांत अभांगी ने रैंक 6, संबित बेहरा ने रैंक 11, अंकित मिश्रा ने रैंक 13, कार्तिकेय चन्द्रेश गुप्ता ने रैंक 18 तथा समीक्षा दास ने रैंक 20 प्राप्त की।

ये सभी सातों स्टूडेंट्स एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के क्लासरूम प्रोग्राम के स्टूडेंट्स हैं। 100 एनटीए स्कोर प्राप्त करने वाले 24 स्टूडेंट्स में से एलन के 7 स्टूडेंट्स हैं। इनमें राजस्थान से 4 स्टूडेंट्स ऑल इंडिया टॉप 20 में हैं जिसमें 3 एलन से हैं। एलन के निशांत अभांगी ने राजस्थान टॉप किया है तथा संबित बेहरा व समीक्षा दास शामिल हैं।

जनवरी व अप्रेल में 12 लाख 37 हजार 892 ने करवाया था रजिस्ट्रेशन

माहेश्वरी ने बताया कि देश के 31 एनआईटी, 23 ट्रिपलआईटी एवं 23 जीएफटीआई की लगभग 26 हजार से जायदा सीटों पर प्रवेश के लिए हुई देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन जिसका रिजल्ट जनवरी व अप्रैल में हुई परीक्षाओं के एनटीए स्कोर के साथ-साथ आल इंडिया रैंक के रूप में जारी कर दिया गया। जारी की गई की प्रेसरिलीज के अनुसार जनवरी जेईई-मेन पेपर-1 परीक्षा के लिए कुल 9 लाख 29 हजार 198 विद्यार्थी पंजीकृत हुए, जिसमें से 8 लाख 74 हजार 469 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। साथ ही अप्रैल परीक्षा के लिए 9 लाख 35 हजार 755 विद्यार्थियों ने रजिस्ट्रेशन करवाया, जिसमें से 8 लाख 81 हजार 86 विद्यार्थी परीक्षा में बैठे।

इस प्रकार जनवरी व अप्रेल में हुई परीक्षाओं में कुल मिलाकर 12 लाख 37 हजार 892 विद्यार्थी पंजीकृत हुए, जिसमें से 11 लाख 47 हजार 125 विद्यार्थी परीक्षाओं में शामिल हुए। इनमें से जनवरी व अप्रैल में 6 लाख 46 हजार 386 विद्यार्थी ऐसे थे, जिन्होंने जनवरी व अप्रेल दोनों परीक्षाओं में पंजीकरण करवाया, साथ ही दोनों ही परीक्षाओं में 6 लाख 8 हजार 440 विद्यार्थी बैठे। जिसमें सामान्य श्रेणी के 5 लाख 5 हजार 642, ओबीसी के 4 लाख 46 हजार 168, एससी के 1 लाख 8 हजार 648, एसटी के 43 हजार 632 एवं ईडब्ल्यूएस कैटेगिरी के 43 हजार 35 विद्यार्थी शामिल है। इन शामिल विद्यार्थियों में 8 लाख 16 हजार 420 छात्र एवं 3 लाख 30 हजार 702 छात्राएं तथा तीन ट्रांसजेंडर शामिल थे।

ये रही जेईई-एडवांस्ड के लिए कटऑफ

जनवरी व अप्रेल में हुई जेईई-मेन परीक्षाओं के कुल एनटीए स्कोर में से उच्चतम एनटीए स्कोर के आधार पर एडवांस्ड परीक्षा देने की कटऑफ जारी कर दी गई है, जिसके अनुसार सामान्य श्रेणी की कटऑफ 89.7548849, ईडब्ल्यूएस कैटेगिरी की 78.2174869, ओबीसी कैटेगिरी की 74.3166557, एससी की 54.0128155, एससी की 44.3345172 एवं विकलांग श्रेणी की 0.1137173 रही।

अक्षत गुप्ता एआईआर 83वीं रैंक

जेईई मेन में इंदौर एलेन कॅरिअर इंस्टीट्यूट के छात्र अक्षत गुप्ता को अखिल भारतीय स्तर पर एआईआर 83वीं रैंक मिली है। गुप्ता को एनटीएसई स्कॉलरशिप और केवीपीवाई फैलोशीप में चयन हुआ है तथा केवीपीवाई में ऑल इंडिया स्तर पर 61वीं रैंक प्राप्त की है। साथ ही भौतिकी, रसायन और खगोल विज्ञान में आईएनओ के लिए योग्य और मुंबई में ओसीएससी द्वारा आयोजित होने वाले भौतिकी के लिए एचबीसीएसई शिविर के लिए भी अर्हता प्राप्त की है। अक्षत गुप्ता के पिता निर्मल गुप्ता एक इंजीनियर हैं और सरकारी विभाग में काम करते हैं। माता राजश्री गुप्ता गृहिणी हैं।

रोहित देशपांडे एआईआर 98वीं रैंक

जेईई मेन में इंदौर एलेन कॅरिअर इंस्टीट्यूट के छात्र रोहित देशपांडे को अखिल भारतीय स्तर पर एआईआर 98वीं रैंक मिली है। रोहित देशपांडे को एनटीएसई स्कॉलरशिप और केवीपीवाई फैलोशीप में चयन हुआ है तथा केवीपीवाई में ऑल इंडिया स्तर पर 901 वीं रैंक प्राप्त की है। उनके पिता डॉ. राजेश देशपांडे एक डॉक्टर हैं और उनकी मां कीर्ति देशपांडे हैं और उज्जैन में एक निजी मेडिकल कॉलेज में डॉक्टर और प्रोफेसर हैं।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com