इंदौर : संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने कहा है कि ओंकारेश्वर के पावन पर्वत पर स्थापित होने वाली शंकराचार्य की प्रतिमा धर्म और अध्यात्म का सुंदर संजोग बनेगी। यह शंकराचार्य न्यास का ऐसा प्रकल्प है जिससे ओंकारेश्वर में धार्मिक पर्यटन को एक नया स्वरूप मिलेगा।

Also Read : गजब! तिरुपति और शिर्डी की तर्ज पर बनेगी महाकाल की ऑटोमेटेड भोजनशाला, 1 लाख श्रद्धालु रोज करेंगे भोजन

संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने आज ओंकारेश्वर में आदि गुरु शंकराचार्य की प्रतिमा स्थापना के संदर्भ में सभी संबंधित एजेंसियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा बैठक लेकर प्रगति की समीक्षा की। बैठक में संस्कृति विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों सहित कलेक्टर खंडवा अनूप कुमार सिंह भी शामिल थे।

Also Read : इंदौर कलेक्टर बोले- सीएम हेल्पलाइन में दर्ज समस्याओं का जल्द हो समाधान

बैठक में बताया गया कि शंकराचार्य जी की प्रतिमा का निर्माण अन्यत्र प्रारंभ हो गया है। ग्रीष्मकाल की समापन बेला में ही ओंकारेश्वर में प्रतिमा का अंतिम रूप से संयोजन किया जाएगा। मूर्ति के निर्माण के लिए मॉडल का रूप संस्कृति विभाग द्वारा अंतिम रूप से चयनित किया जा चुका है। संभागायुक्त द्वारा प्रतिमा निर्माण स्थल में लैंडस्केपिंग संग्रहालय इंटरप्रिटेशन सेंटर इत्यादि के संदर्भ में भी आवश्यक निर्देश दिए गए।