महामृत्युंजय मासक्षमण तप आराधना हुई पूर्ण, सैकड़ों गुरुभक्त हुए शामिल

महती धर्मसभा को संबोधित करते हुए महासती वृन्द ने तप की महिमा को बताया तथा देवेंद्र जी के मासक्षमण तप की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह तप सुखकारी मंगकलकारी हितकारी बने,कर्म निर्जरा का हेतु बने!

महती धर्मसभा को संबोधित करते हुए महासती वृन्द ने तप की महिमा को बताया तथा देवेंद्र जी के मासक्षमण तप की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह तप सुखकारी मंगकलकारी हितकारी बने,कर्म निर्जरा का हेतु बने! युवा राजेंद्र जैन के अनुसार इस अवसर पर धर्मदास गण परिषद, धर्मदास स्था.जैन युवा संगठन, चंदना श्राविका संगठन,अणु स्वाध्याय भवन संघ,अणु मित्र मंडल,अणु जिनेन्द्र बहु / महिला मंडल,,स्वधर्मी जैन सहायता मिशन,जैन कॉन्फ्रेंस,जैन साधना भवन, संघ जानकीनगर,जैन सोशल ग्रुप-स्वास्तिक, अरिहंत,सिद्धाचल, जैन रिलीफ फाउंडेशन,अ भा श्वेताम्बर जैन सोशल ग्रुप फेडरेशन,जावरा-के इन्दोर निवासी परिवार,समता संघ,अणु मित्र मंडल रतलाम आदि संस्थाओं की और से तपस्वी का अभिनन्दन किया गया!


इस अवसर पर महाराष्ट्र, गुजरात राजस्थान मध्यप्रदेश के विभिन्न संघो के सैकड़ों गुरुभक्त अनुमोदना हेतु पधारे!