वैक्सीन नहीं लगवाने की ज़िद्द बनी मौत का कारण…

Indore News

इंदौर : संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा की अध्यक्षता में आज कोरोना से होने वाली मृत्यु के कारणों पर विचार करने के लिए गठित डेथ ऑडिट कमेटी की बैठक संपन्न हुई। बैठक में जनवरी माह में हुई इंदौर संभाग में 17 मरीज़ों की मृत्यु की समीक्षा की गई।

यह भी पढ़े : इस बार इंदौर के खाते में एक भी पद्मश्री पुरस्कार नहीं आया

बैठक में डीन मेडिकल कॉलेज डॉ. संजय दीक्षित ने बताया कि संभाग के विभिन्न ज़िलों में इन मरीज़ों में से चार मरीज़ ऐसे थे जिन्होंने वैक्सीन नहीं लगवाई थी। जिन मरीज़ों की मृत्यु हुई है वे सभी पहले से ही गंभीर बीमारियों से जूझ रहे थे। मृत्यु का सीधा कारण कोरोना नहीं था। बैठक में अपर आयुक्त श्रीमती रजनी सिंह, संयु क्त आयुक्त श्रीमती सपना सोलंकी, डॉ. वी. पी. पांडे, डॉ. सलिल भार्गव सहित संभाग के सभी ज़िलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी शामिल थे।

यह भी पढ़े : मस्ती के रंग में रंगे Sara-Vicky, शेयर किया मजेदार Video

संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई इस बैठक में सभी ज़िलों में वर्तमान में कोरोना के मरीज़ों की संख्या और उनकी चिकित्सा के संबंध में जानकारी प्राप्त की। संबंधित अधिकारियों द्वारा बताया गया कि सभी ज़िलों में इक्का-दुक्का मरीज़ ही अस्पतालों में भर्ती हैं, जो कि किसी अन्य बीमारी के कारण भी भर्ती हैं। बाक़ी सभी मरीज़ घर पर ही रह कर उपचार प्राप्त कर रहे हैं एवं स्वास्थ्य लाभ भी प्राप्त कर रहे हैं।

ऐसे में अगर आप भी किसी तरह की जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो नि :शुल्क जारी किये गए नंबर पर बात कर सहायता ले सकते है और अपना उपचार करवा सकते है और कोरोना से जंग जीत सकते है। साथ ही आस-पास में भी कोरोना वैक्सीन को लेकर जागरूकता फैलाएं जिससे लोग भ्रम में ना आये।