सूत्रधार याद करेगा अमृता प्रीतम को

0

इंदौर। पंजाबी और हिंदी की अत्यंत लोकप्रिय कवयित्री और कथाकार अमृता प्रीतम के शताब्दी दिवस की पूर्व संध्या पर सूत्रधार की एक भावनात्मक पहल ‘एक थी अमृता!‘ का आयोजन किया जाएगा। ये कार्यक्रम प्रीतमलाल दुआ सभागृह में 30 अगस्त को शाम साढ़े बजे रखा गया है। कार्यक्रम में सबसे पहले वरिष्ठ कवयित्री रश्मि रमानी का उद्बोधन होगा। इसके बाद निदेशक राजेश बादल द्वारा राज्यसभा टीवी की डाॅक्यूमेंट्री ‘एक थी अमृता‘ दिखाई जाएगी। ठीक इसके बाद साहित्य अकादमी की डाॅक्यूमेंट्री ‘अमृता टूडे‘ दिखाई जाएगी। इस डाॅक्यूमेंट्री के निर्माता और निदेशक बासु भट्टाचार्य है। वहीं भारत के विभाजन पर एक दस्तावेजी फीचर फिल्म ‘पिंजर‘ का प्रदर्शन किया जाएगा। कहानी अमृता प्रीतम की लिखी हुई। निदेशन डाॅ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी ने किया। इस फिल्म के पात्र उर्मिला मातोंडकर और मनोज वाजपेयी सहित अन्य है।