श्रद्धा मर्डर केस की तर्ज पर वारदात को अंजाम देने वाले शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। एक 60 साल की महिला को हत्यारे ने कई टुकड़ों में विभाजित और एक ही जगह पर फेक दिए थे।

यह घटना राजस्थान के जयपुर की है। जहां पर एक 60 वर्षीय सरोज शर्मा (Saroj Sharma) की हत्या के मामले में पुलिस (Rajasthan Police) ने आरोपी का खुलासा का दिया है। पुलिस ने कहा है कि आरोपी मनोरोगी (Psychopath) हो सकता है। इस केस में आरोपी मृतका का भतीजा है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, विद्यानगर पुलिस (Vidyanagar Police) ने रविवार (18 दिसंबर) को कहा, ”संदेह है कि आरोपी अनुज शर्मा (Anuj Sharma) मानसिक विकार से पीड़ित है और गुस्से में आकर उसने वारदात को अंजाम दिया।

SHO ने कहा, “इस तरह का जघन्य अपराध कोई मनोरोगी ही कर सकता है। जिस तरह से शव को काटा गया और एक स्थान पर फेंका गया, यह केवल एक विकृत आदमी ही कर सकता है।

वारदात को अंजाम

पुलिस के मुताबिक, उस चाकू का पता लगाया जा रहा है जिसे आरोपी ने पीड़िता के शव को काटने के लिए पहले इस्तेमाल किया था। वारदात के बाद से अपार्टमेंट के निवासी सन्न हैं और अब वे अपनी सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे लगा रहे हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, विद्याधर नगर के लालपुरिया अपार्टमेंट में रहने वाले लोग अपार्टमेंट ब्लॉक में सीसीटीवी कैमरे लगवा रहे हैं। इसी अपार्टमेंट में वारदात को अंजाम दिया गया था।

अपार्टमेंट में रहने वाली एक डॉक्टर ने यह कहा

एएनआई ने लालपुरिया अपार्टमेंट में रहने वाली डॉक्टर शालू पाव के हवाले से लिखा है, ”मैं यहां पिछले 27 वर्षों से रहती आई हूं। यहां जो घटना हुई वो बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। आमतौर पर मुलाकात के अलावा, मैं मृतका को निजी तौर पर नहीं जानती थी। सुरक्षा की खातिर हम पूरे ब्लॉक में सीसीटीवी कैमरे लगवा रहे हैं।

श्रद्धा मर्डर केस की तर्ज पर वारदात को दिया अंजाम

विद्यानगर पुलिस के मुताबिक, आरोपी की पहचान अनुज शर्मा उर्फ अचिंत्य गोविंद दास के रूप में हुई है। उसने कथित तौर पर टोकाटाकी से तंग आकर अपनी ताई के सिर पर हथौड़ा मारकर हत्या कर दी। आरोपी अनुज शर्मा पुलिस की गिरफ्त में है. पुलिस के मुताबिक, आरोपी ने कथित तौर पर श्रद्धा वालकर हत्याकांड की तर्ज पर अपनी ताई के शव के दस टुकड़े किए और फिर दिल्ली-जयपुर हाईवे के पास जंगल में उन्हें फेंक दिया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, मृतका सरोज शर्मा के शव के आठ टुकड़ों को बरामद कर लिया गया है। आरोपी को 20 दिसंबर तक के लिए पुलिस रिमांड में भेजा गया है।

ऐसे पकड़ा गया आरोपी

पुलिस के मुताबिक, आरोपी की उम्र 32 साल है। उसने बीटेक की पढ़ाई की है। 2013 से वह हरे कृष्ण आंदोलन से जुड़ा था। आरोपी ने कथित तौर पर अपनी विधवा ताई के शव के टुकड़े करने के लिए मार्बल कटर का इस्तेमाल किया था और उन्हें ठिकाने लगाने के लिए गूगल मैप का इस्तेमाल किया।

डीसीपी नॉर्थ जयपुर परिस देशमुख के मुताबिक, आरोपी ने 11 दिसंबर को अपनी ताई की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। सीसीटीवी कैमरे खंगालने के बाद पुलिस को आरोपी पर शक हुआ। घर में रसोई में खून के धब्बे देखे गए। सीसीटीवी फुटेज में आरोपी एक सूटकेस घसीटता देखा गया। पुलिस ने आरोपी से कड़ाई से पूछताछ की तो उसने जुर्म कबूल कर लिया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, आरोपी आर्थिक तौर पर अपनी ताई पर ही निर्भर था। मृतका का एक बेटा और एक बेटी है। बेटा विदेश में रहता है।