राजधानी शताब्दी में चाय नाश्ता होगा सस्ता, चार्ज घटाने की तैयारी में रेलवे सर्विस

राजधानी-शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन के एसी-2 व 3 कोच में 20 रुपये की चाय और उस पर 50 रुपये सर्विस चार्ज को लेकर सोशल मीडिया बवाल होने के बाद रेलवे बोर्ड इसमें सुधार का विचार कर रहा है। इसको लेकर अगले हफ्ते तक आदेश जारी हो सकते हैं।रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि प्रीमियम ट्रेन राजधानी-शताब्दी, दुरंतो, गतिमान, वंदे भारत एक्सप्रेस आदि में टिकट बुक कराते समय कैटरिंग सुविधा लेना वैकल्पिक है। लेकिन बीच सफर के दौरान रेल यात्री नाश्ता, दोपहर-रात के खाने का ऑर्डर करते है, तो उनको 50 रुपये अतिरिक्त सर्विस चार्ज देना होगा, जो खाना अथवा नाश्ते की दर से अलग होगा।

Also Read – सोने और चांदी की दरें स्थिर, आज का भाव जानने के लिए देखिए

इन प्रीमियम ट्रेनों में टिकट बुक कराते समय कैटरिंग लेने वाले रेल यात्रियों से अतिरिक्त सर्विस चार्ज नहीं लिया जाता है। रेलवे ऐसे यात्रियों से कैटरिंग चार्ज बुकिंग के समय ले लेता है। गौरतलब है कि जून 2017 को रेलवे बोर्ड ने आदेश जारी कर कहा था टिकट बुकिंग कराते समय जिन यात्रियों ने कैटरिंग सुविधा नहीं ली थी, यात्रा के दौरान केवल चाय अथवा कॉफी का आर्डर होने पर भी यात्री से 50 रुपये अतिरिक्त सर्विस चार्ज लिया जाएगा। इसको लेकर 2018 में आईआरसीटसी ने दोबारा 50 रुपये सर्विस चार्ज पर रेलवे बोर्ड की राय मांगी। बोर्ड ने सर्विस चार्ज को यथावत रखने के आदेश जारी किए थे।इसके अलावा प्रीमियम ट्रेनों में फुटकर खाद्य सामग्री जैसे चिप्स, बिस्किट, नमकीन आदि की बिक्री पर प्रतिबंध है। ठेकेदार खराब होने वाले खाना के नुकसान की भरपाई नहीं कर सकता है। जबकि 400 मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों में फुटकर खाद्य सामग्री की बिक्री होती है। इसलिए इनमें अतिरिक्त सर्विस चार्ज नहीं लिया जाता है।