इंदौर: टैक्स प्रैक्टिश्नर्स एसोसिएशन (टीपीए) के प्रेसिडेंट सीए शैलेन्द्र सिंह सोलंकी ने बताया कि इस कार्यक्रम में पारम्परिक खेल जैसे गिल्ली डंडा, सितोलिया, रस्साकशी, मटकी फोड़, पतंगबाजी, कार्ड मैजिक, शूटिंग सहित अनेक पुरातन खेल खेले गए जिसमें सभी सदस्यों ने सहपरिवार भाग लिया।

टैक्स प्रैक्टिश्नर्स एसोसिएशन (टीपीए) के मानद सचिव सीए अभय शर्मा ने बताया कि इस प्रकार के आयोजनों से हमारी पुरातन संस्कृति जीवित रहती है तथा नई पीढ़ी भी रिति रिवाजों से परिचित रहती है।

उन्होंने कहा कि जिस देश में संस्कृति जिन्दा रहती है उस देश के संस्कार जिन्दा रहते हैं तथा जिस देश में संस्कार जिन्दा रहते हैं उस देश की संतति ऊर्जावान होती है अतः हमें अपनी सांस्कृतिक विरासत को बचाने के लिए इस सभी तीज त्योहारों को धूमधाम से मनाना चाहिए।

विभिन्न पुरुस्कारों में कार्ड गेम में सीए आर्ची जैन, मटकी फोड़ में सीए अभय भंडारी, पतंगबाजी में सीए प्रवीण ऐरन, सितोलोया में सीए सोम सिंघल, रस्साकशी में एडवोकेट जसमीत सिंह होरा की टीम प्रथम आई।इस अवसर पर सदस्यों ने तिल्ली के लड्डू, गजक, देशी फलों के साथ देशी भोजन का आनंद लिया।


इस अवसर पर एडवोकेट महेश अग्रवाल, इंदौर सीए शाखा के सचिव सीए रजत धानुका, रीजनल कौंसिल मेंबर सीए कीर्ति जोशी, सीए सुनील पी. जैन, सीए अभिषेक गांग, सीए अमितेश जैन, सीए मौसम राठी, एडवोकेट गोविन्द गोयल, सीए एस एन गोयल, सीए भारत सहित बड़ी संख्या में सदस्य मौजूद थे।