शेयर बाजार एक जोखिम और अनिश्चितता से भरा हुआ सेक्टर है। कई बार शेयर बाजार में आश्चर्यजनक परिवर्तन देखने को मिलता रहता है। कई बार जानीमानी और प्रतिष्ठित कंपनियां भी अपने निवेशकों को निराशा की गर्त में धकेल देती हैं, वहीं कई बार कुछ नई और गुमनाम कंपनियां भी अपने निवेशकों को उम्मीद से कहीं ज्यादा रिटर्न देने वाली साबित होती हैं। इस अनिश्चितता को लेकर अब नए ट्रेडिंग सिस्टम विकसित हो रहे हैं।

Also Read-MP Weather : प्रदेश के इन जिलों में फिर हो सकती है भारी बारिश, जानिए कहां गिर सकती है आसमानी बिजली

एल्गो ट्रेडिंग (Algo Trading) पर है एक्सपर्ट्स का भरोसा

एल्गो ट्रेडिंग (Algo Trading) सिस्टम भारत में नया जरूर है, परन्तु वर्तमान में देखा जाए तो भारतीय घरेलू शेयर बाजार में एक बड़ा कारोबार एल्गो ट्रेडिंग (Algo Trading) के आधार पर हो रहा है। शेयर बाजार की रिपोर्ट्स के अनुसार एल्गो ट्रेडिंग ने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE ) के कारोबार पर 40 प्रतिशत तक अधिकार कर लिया है। भारतीय घरेलू शेयर बाजार में यह नया ट्रेडिंग सिस्टम तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। ऐसे में शेयर बाजार के अनुभवी जानकार इसे ग्यारन्टीड रिटर्न देने वाला ट्रेडिंग सिस्टम मान रहे हैं।

Also Read-भाद्रपद शुक्ला अनंत चतुर्दशी Live Darshan: कीजिए देशभर के प्रमुख मंदिरों के मंगला दर्शन

क्या है एल्गो ट्रेडिंग सिस्टम

जानकारी के अनुसार एल्गो ट्रेडिंग को ऑटोमेटेड ट्रेडिंग, प्रोग्राम्ड ट्रेडिंग या ब्लैक बॉक्स ट्रेडिंग भी कहा जाता है । एल्गो नाम की उत्पत्ति एल्गोरिदम (Algorithm) शब्द से होती है । यह एक कंप्यूटर प्रोग्राम पर आधारित होती है जिसमें ट्रेड करने के लिए तय निर्देशों (एक एल्गोरिदम) को फॉलो करता है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इसमें काफी तेजी से और अधिक बार रिटर्न प्राप्त होता है ।