Breaking News

इस्तीफा देने से इंकार किया तो श्रीलंका पुलिस चीफ सस्पेंड

Posted on: 30 Apr 2019 15:25 by Surbhi Bhawsar
इस्तीफा देने से इंकार किया तो श्रीलंका पुलिस चीफ सस्पेंड

कोलंबो। श्रीलंका सीरियल ब्लास्ट के हफ्ते भर बाद राष्ट्रपति ने पुलिस चीफ पुजित जयसुंदर को निलंबित कर दिया है। राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना ने उनसे पद छोडऩे को कहा था, लेकिन जयसुंदर ने इंकार कर दिया था।

अफसरों के मुताबिक पुलिस चीफ को संसद के जरिये ही हटाया जा सकता है। उनकी जगह सीनियर डीजीपी सीडी विक्रमरत्ने को काम सौंपा गया है। प्रधानमंत्री रनिल विक्रमसिंघे ने कहा कि सरकार आतंकवाद के खात्मे के लिए कड़ा कानून ला रही है। विक्रमसिंघे ने कहा कि अभी हमारे पास ऐसा कानून नहीं है, जो विदेशी आतंकवादी समूहों में शामिल लोगों को हिरासत में लेने की इजाजत देता हो।

ईस्टर पर हुए धमाके

ईस्टर के मौके पर आतंकियों ने श्रीलंका के कोलंबों को निशाना बनाया। कोलंबो में एक के बाद एक 8 धमाके हुए। इन धमाकों को लेकर सूत्रों से आई खबरों के मुताबिक़ 8 धमाकों में से 2 धमाके आताम्घती है। आतंकियों ने कोलंबो के तीन चर्च और 4 होटल को निशाना बनाया है। इन धमाकों में 300 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है जबकि 400 लोग घायल हो गए है। मारे गए लोगों में 35 विदेशी नागरिक थे।

पुलिस ने बताया कि आतंकियों द्वारा कोलंबो में सेंट एंथनी चर्च, नौगोंबो में सेंट सेबेस्टियन चर्च और बट्टिकलोबा में एक चर्च को निशाना बनाया गया।इसके अलावा होटल शांग्री-ला, सिनामोन ग्रैंड और किंग्सबरी में भी धमाका हुआ है।

हाई अलर्ट पर भारत

ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में हुए बन धमाकों के बाद तटीय राज्यों में कोस्ट गार्ड, कोस्टल मरीन पुलिस और स्थानीय पुलिस पहले से अलर्ट पर हैं। पुलिस को इस बात की आशंका है कि आतंकी समुद्र के रास्ते भारत में घुस सकते है और आतंकी हमले को अंजाम दे सकते है।

अमेरिका ने बचाया यात्रा चेतावनी का स्तर

श्रीलंका में हुए इस भीषण आतंकी हमले के बाद अमेरिका ने श्रीलंका के लिए यात्रा चेतावनी के स्तर को बढ़ा दिया है।अमेरिका ने अपने नागरिकों से द्वीपीय राष्ट्र की यात्रा पर पुनर्विचार करने की अपील की है। मंत्रालय ने एक बयान जारी करते हुए कहा, ‘आतंकवादी बिना किसी चेतावनी अथवा हल्की चेतावनी के हमला कर सकते हैं और पर्यटक स्थलों, यातायात ठिकानों, बाजारों, शॉपिंग मॉल, सरकारी संस्थानों, होटलों, क्लबों, रेस्त्रां, प्रार्थना स्थलों, पार्कों, खेल तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों, शिक्षण संस्थानों, हवाई अड्डों, अस्पतालों तथा अन्य सार्वजनिक स्थानों को निशाना बना सकते हैं।’

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com