स्मार्ट सिटी इन्क्यूबेशन सेंटर द्वारा मेडिकेम्पस विश्वविद्यालय के साथ एमओयु साईन

इंदौर। निगमायुक्त व स्मार्ट सिटी कार्यपालक निर्देशक प्रतिभा पाल ने बताया कि इंदौर स्मार्ट सिटी डेव्हलपमेंट लिमिटेड द्वारा मेडिकैप्स विश्वविद्यालय के साथ छात्रो और पूर्व छात्रो के नए विचारो पर पारस्परिक रूप से काम करने के लिये स्मार्ट सिटी इन्क्यूबेशन सेंटर (सीआईआईई सीओ द्वारा प्रबंधित आईआईएम अहमदाबाद में निर्मित) संबंध में इंदौर स्मार्ट सिटी डेव्हलपमेंट लिमिटेड की ओर से कंपनी के सीईओ ऋषभ गुप्ता आईएएस एवं मेडिकैप्स विश्वविद्यालय कुलपति श्री दिलीप कुमार पटनायक द्वारा एआईसीसीसी बिल्डिंग, चार्टर्ड बस स्टेण्ड कैम्पस में एमओयु साईन(memorandum of understanding) किया गया। कार्यक्रम में एसजीएसआईटीएस के वरिष्ठ प्रबंधन के साथ-साथ इंदौर स्मार्ट सिटी के यंत्री श्री सुनील दुबे, श्री हर्षित तिवारी, श्री कपील नामा, और आदित्य व्यास व अन्य उपस्थित थे।

मुख्य कार्यपालन अधिकारी इंदौर स्मार्ट सिटी डेव्हलपमेंट लिमिटेड ऋषभ गुप्ता ने बताया कि इंदौर स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट ने राष्ट्रीय युवा दिवस के मौके पर स्टूडेंट्स को रोजगार देने का अहम कदम उठाते हुए, मेडिकैप्स विश्वविद्यालय के साथ एक एमओयू पर हस्ताक्षर किए है। एमओयू के माध्यम से स्टूडेंट्स को इंदौर स्मार्ट सीड इनक्यूबेशन सेंटर पर अपने स्टार्टअप प्रोग्राम को शुरू करने के लिए मौका मिलेगा।

सिटी इन्क्यूबेशन सेंटर के संचालन के जरिये स्टार्टअप और उद्योग-व्यापार शुरू करने वाले स्टूडेंट्स और युवाओं को काफी लाभ मिलेगा, स्टूडेंट्स और युवाओं को यहां अपने उद्यम को आगे बढ़ाने के लिए तकनीकी और अन्य सहायता मिलेगी, हालांकि इंदौर स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट के द्वारा उद्यमिता के लिए आवश्यक मार्गदर्शन देने के साथ-साथ अपने इंदौर स्मार्ट सीड इनक्यूबेशन सेंटर को उपयोग करने की सुविधा भी प्रदान की जा रही है विश्वविद्यालय द्वारा अपनी प्रयोगशाला, तकनीकी सहायता जैसी आधारभूत सुविधाएं दी जाएगी और सीआईआई इनीशिएटिव द्वारा स्टार्टअप की मेंबरशिप, बिजनेस मॉडल डेवलपमेंट, फंड रेसिंग, एग्रीकल्चर, फार्मा, नेटवर्किंग में मार्गदर्शन देगे। विदित हो कि इंदौर स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट ने चार अलग अलग यूनिवर्सिटी के साथ एमओयू साइन किया है और इसके माध्यम से छात्रों को रिसर्च के साथ ही अपनी क्रिएटिविटी को दिखाने का मौका भी मिल रहा है।