चीन में कोरोना महामारी की वजह से दिन प्रतिदिन हालात बेकाबू होते जा रहे है। वहा पर इस वक्त ऐसी स्थिति बनी हुई है। जैसे कोरोना के शुरूआती दौर में देखी गई थी। इसके बाद भी सरकार ने इनकार कर रही है। इतना ही नही मौतों के आंकड़े छिपाती जा रही है। इस स्थिति को समझने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) भी फैल होती नजर आ रही है। लेकिन अब सैटेलाइट तस्वीरें सामने आ रही है। जो हैरान कर देने वाली है।

इन तस्वीरों में देखा जा सकता है कि, श्मशान घाटों के बाहर मृतकों का अंतिम संस्कार करने के लिए लंबी-लंबी कतारों में लगना पड़ रहा है। इससे रिकॉर्ड मौतों की सच्चाई सामने आ रही है।

एक दिन में 5 हजार से ज्यादा मौतें

चीन कुछ महिने पहले जीरो कोविड पॉलिसी के तहत सख्ती से काम कर रही थी। लेकिन लोगों को मजबूरन प्रतिबंधो झेलने से परेशान हो गए थे। इसी बीच लोगों ने सड़कों पर विरोध किया। विरोध इतना तेज हुआ कि चीन का तानाशाह सरकार को गुटने टेकने पड़े। सरकार ने जीरो कोविड पॉलिसी में कई प्रकार की ढील देना शुरू किया तो इसके बाद से दिन प्रतिदिन मौतों का आंकड़ा बढ़ते ही जा रहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक, चीन में हर दिन 5 हजार से अधिक कोरोना से मौतें हो रही है। अस्पतालों में मरिजों को जगह नही मिल पा रही है। इतना ही नही अंतिम संस्कार के लिए लोगों को श्मशान के बाहर लंबी-लंबी कतारों में लगना पड़ रहा है। लेकिन फिर भी सरकार का मानना है कि देश में अब तक केवल 5200 लोगों की कोरोना से मौत हुई है।

Also Read : Bhopal Breaking News : करणी सेना का आंदोलन हुआ समाप्त, शिवराज सरकार ने 18 मांगों पर जताई सहमति

सैटेलाइट की तस्वीरें

Maxar Technologies की तरफ से सैटेलाइट की जो तस्वीरें शेयर की गई हैं, उनमें कई तरह के बदलाव देखने को मिल रहे हैं। बीजिंग सीमा के पास एक नया श्मशान घाट बना दिया गया है, Kunming, Nanjing, Chengdu, Tangshan, और Huzhou जैसी जगहों पर श्मशान घाट के बाहर गाड़ियों की लंबी कतारें देखने को मिल रही हैं।

इस बात के भी सबूत मिल गए हैं कि चीन की स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई हैं। वहां पर मरीजों के लिए बेड नहीं हैं, जरूरी दवाइयां नदारद हैं और सिर्फ भीड़ बढ़ती जा रही है। अब चीन से सामने आईं ये सैटेलाइट तस्वीरें तो सच्चाई बयां कर ही रही हैं, चीन की जिनपिंग सरकार ने कुछ ऐसी गलतियां भी की हैं जो इस कोरोना विस्फोट के लिए जिम्मेदार है।

Also Read : कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा के समापन पर 21 दलों को भेजा गया आमंत्रण पत्र, ये पार्टियां होगी शामिल

बुजुर्गों को अबतक नही लगी कोरोना वैक्सीन

डब्‍ल्‍यूएचओ के मुताबिक, चीन में इस समय हालात चिंताजनक बने हुए है। इसकी बड़ी वजह यह सामने आई है, की यहां बुजुर्गों की बड़ी आबादी को अब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं लगाई गई है। वहीं क्योंकि जमीन पर इतनी सख्ती रही, इस वजह से चीन के लोगों में कोरोना वायरस को लेकर हर्ड इम्युनिटी भी नहीं बन पाई है।

एक्सपर्ट का मानना है कि, ये भी कोरोना विस्फोट का एक बड़ा कारण है। डब्‍ल्‍यूएचओ इसी वजह से चीन से लगातार बोल रहा है कि वो सही आंकड़े जारी करे, कोरोना की असल स्थिति बताए।