भोपाल। मध्यप्रदेश के भोपाल के जंबूरी मैदान में बीतें कई दिनों से जातिगत आरक्षण समेत 21 सूत्रीय मांगों को लेकर करणी सेना परिवार का जनआंदोलन चार दिनों से कर रही थी। लेकिन अब ऐसी खबर आ रही कि सरकार शिवराज सरकार करणी सेना के आगे झुक गयी है। जिसके बाद अब आंदोलन ख़त्म हो चुका है।

बता दें करणी सेना 21 सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलन कर रही थी। जिसमें सरकार ने 18 मांगों पर सरकार के साथ सहमति जताई है। आरक्षण, एट्रोसिटी समेत 3 मांगों के लिए कमेटी बनाई जाएगी। सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया बुधवार देर शाम करणी सेना प्रमुख जीवन सिंह शेरपुर से मिलने जंबूरी मैदान पहुंचे। यहां शेरपुर ने भदौरिया को 21 सूत्रीय मांग पत्र सौंपा।

Also Read : कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा के समापन पर 21 दलों को भेजा गया आमंत्रण पत्र, ये पार्टियां होगी शामिल

मुलाकात के बाद करणी सेना परिवार एवं सर्व समाज के प्रवक्ता शैलेंद्र सिंह राजपूत ने बताया कि सरकार के साथ 18 मांगों के निराकरण पर सहमति बनने की जानकारी दी। बता दें बीतें तीन दिन से डॉ भदौरिया आँदोलनकारियों के संपर्क में थे। वहीं आंदोलन को लेकर एक एसीएस और दो पीएस की कमेटी बनाई गयी है। यह कमेटी दो महीने में सिफ़ारिश राज्य सरकार को देगी। आपरेशन लोटस के बाद अरविंद सिंह भदौरिया फिर सरकार और भाजपा के संकटमोचक बनें।