देश के सबसे चर्चित मर्डर केस के आरोपी आफ़ताब पूनावाला इन दिनों तिहाड़ जेल में है। जहाँ उसने तिहाड़ जेल प्रशासन से साहित्य और उपन्यास की किताबों की मांग की है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, तिहाड़ जेल प्रशासन के सूत्र ने बताया कि आफताब को साहित्य और उपन्यास की किताबें जल्दी ही उपलब्ध कराई जाएंगी।

श्रद्धा हत्याकांड के आरोपी आफताब (Aftab Poonawala) का नार्को टेस्ट सोमवार (28 नवंबर) को कराया गया था। जहाँ पुलिस पूछताछ के दौरान सारे जवाब एक-दूसरे से मेल खा रहे हैं। सूत्रों के अनुसार, 14 दिनों की पुलिस हिरासत के दौरान पूनावाला का इकबालिया बयान, उसके पॉलीग्राफ और नार्को एनालिसिस टेस्ट के दौरान पूछे गए सवालों के जवाब एक समान आये।

पुलिस ने बताया कि पॉलीग्राफ और नार्को-एनालिसिस दोनों टेस्टों में आफताब ने पूरा सहयोग किया था। वहीं पूछताछ के दौरान पुलिस द्वारा पूछे गए सवालों के भी उसने वही जवाब दिए, जो उसने बाकी टेस्ट में दिए थे। पुलिस सूत्र के अनुसार आफताब ने इस बात को स्वीकार किया है कि उसी ने अपनी लिव-इन-गर्लफ्रेंड (श्रद्धा वालकर) की हत्या की और यह भी स्वीकार किया कि उसने दिल्ली के वन क्षेत्रों के विभिन्न स्थानों पर उसके शव के टुकड़े फेंके थे।

Also Read : राजस्थान गोलीकांड : युवक को गोली मरने के बाद बस पर बरसाई गोलियां, घटना में DSP बचे बाल-बाल

बता दें आफताब पर उसकी गर्लफ्रेंड श्रद्धा वॉकर (Shraddha Walkar) की हत्या का आरोप है। आफताब (Aftab Poonawala) ने कथित तौर पर 27 वर्षीय श्रद्धा का गला घोंट दिया था और उसके शव के 35 टुकड़े कर किए थे। जिसे उसने अपने महरौली स्थित घर पर 300 लीटर के फ्रिज में रखा और फिर कई दिनों तक शहर भर में फेंकता रहा था। शनिवार (26 नवंबर) को दिल्ली की एक कोर्ट ने आफताब को 13 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।