शिवसेना ने की Modi सरकार की तारीफ, बोली- पीओके पर अब पीछे न हटे सरकार

0
uddhav-thakey-shivsena-mumbai

मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा और शिवसेना में दूरियां बढ़ गई थी। इसके बाद शिवसेना ने कई मुद्दों पर मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा, लेकिन इस बार शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में नए सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे के पीओके पर कार्रवाई करने वाले बयान की जमकर तारीफ की है। शिवसेना ने कहा है कि केंद्र सरकार को सेना को इस तरह का आदेश दे देना चाहिए। कुद दिन पहले नए आर्मी चीफ ने कहा था कि अगर सरकार आदेश दे तो पीओके पर सेना कार्रवाई के लिए तैयार है। सामना में लिखा है कि हिंदुस्तान के नए सेना प्रमुख जनरल मनोज नरवणे ने पदभार संभालते ही मराठी स्वाभिमान दिखा दिया है।

जनरल नरवणे ने नई दिल्ली में स्पष्ट शब्दों में कहा है कि पाक अधिकृकत (पीओके) हमारा ही है। केंद्र सरकार आदेश दे तो पीओके को कब्जे में ले लेंगे। सामना में कहा गया है कि जनरल ने गलत कुछ नहीं कहा। पीआके में ही सर्वाधिक आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर हैं और पाकिस्तानी सेना और आईएसआई के समर्थन से ये आतंकवादी कैंप चलाते हैं। बीच के दौर में हमारे द्वारा जो कुछ भी सर्जिकल स्ट्राइक आदि की गई थी, वह इसी क्षेत्र में की गई थी, परंतु सर्जिकल स्ट्राइक किए जाने के बाद भी पाकिस्तानियों की दुम टेढ़ी की टेढ़ी ही है, उनकी खुराफातें कुछ कम नहीं हुई हैं। संपादकीय में कहा गया कि कश्मीर घाटी में आज भी हमारे सैनिकों का खून बहाया जा रहा है। रोज बलिदान हो रहे हैं, लेकिन कश्मीर की समस्या राजनैतिक अथवा चुनावभर के लिए उफान पर आती है तथा उस पर राजनीति की रोटियां सेंकी जाती हैं। यह अब रोज की ही बात हो गई है, इसलिए जनरल नरवणे की नई नीति का हम स्वागत करते हैं।

शिवसेना मुखपत्र में कहा गया कि जनरल नरवणे केंद्र से सैन्य कार्रवाई का आदेश मांग रहे हैं, प्रधानमंत्री मोदी ऐसा आदेश दें, यही देश की भावना है। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद हर चुनाव में प्रचार सभा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी व भाजपा के सभी नेता बुलंद आवाज में कहते थे कि देशवासियों, अब अगला लक्ष्य पाक अधिकृत कश्मीर ही है। पाक द्वारा निगले गए कश्मीर को मुक्त कराकर अखंड हिंदुस्तान का सपना पूरा करेंगे। संपादकीय में कहा गया है कि जनरल नरवणे सरकार की उसी भूमिका को आगे बढ़ा रहे हैं। अमित शाह ने कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाकर क्रांति लाई। अब जनरल नरवणे को मोदी-शाह का आदेश मिलते ही पीओके हमारा हो जाएगा व अखंड हिंदुस्तान की पुष्पमाला वीर सावरकर को चढ़ाई जाएगी। अखंड हिंदुस्तान वीर सावरकर का बड़ा सपना था इसलिए वीर सावरकर का भी बड़ा सम्मान होगा।