Sariya Cement Rate: आशियाना बनाने में न करें देरी, अभी भी सस्ता है सरिया-सीमेंट का भाव

अक्सर बारिश के मौसम में कांस्ट्रेक्शन के सामान जेसे बालू, सीमेंट, सरिया आदि जेसे सामानों में कमी आ जाती है और इसके भाव में बडोतरी हो जाती हैं। सीधे तौर पर कहा जाए तो कंस्ट्रक्शन का काम होता है तो लागत बढ़ जाती हैं।

मानसून ने अब रफ्तार पकड़ की है और इसका असर घर बनाने में प्रयुक्त होने वाले सामानों पर भी पड़ रहा है। जी हां हम बात कर रहे हैं कंस्ट्रक्शन सेक्टर के बारे में। बारिश के चलते कई शहरों और इलाकों में पानी भर जाता है। इसका असर घर बनाने वाले सामानों पर होता है। फिलहाल भवन निर्माण सामग्रियों के भाव अभी नहीं बड़े हैं और यहां तक कि सरिया और सीमेंट जैसी सामग्रियां अभी भी सस्ती मिल रही है। अक्सर बारिश के मौसम में कांस्ट्रेक्शन के सामान जेसे बालू, सीमेंट, सरिया आदि जेसे सामानों में कमी आ जाती है और इसके भाव में बडोतरी हो जाती हैं। सीधे तौर पर कहा जाए तो कंस्ट्रक्शन का काम होता है तो लागत बढ़ जाती हैं।

बारिश के मौसम में भवन निर्माण सामग्रियों के दामों में इसीलिए भी बढ़ोतरी हो जाती है। क्योंकि बारिश का मौसम शुरू होते ही नदियां और तालाब लबालब भर जाते हैं। जिसके चलते बालू की किल्लत होती है और ईट का उत्पादन भी प्रभावित होता है। इसीलिए इन सामग्रियों के दाम में बढ़ोतरी आ जाती है और इसके साथ ही सरिया और सीमेंट के भाव भी बड़ जाते है। मार्च- अप्रैल महीने में भवन निर्माण सामग्रियों की कीमत बहुत ज्यादा थी। सरिया और सीमेंट जैसी सामग्रियों की कीमतों में भी तेजी से कम हो गई है, लेकिन जून महीने के पहले सप्ताह तक भी सरिया और सीमेंट के भाव गिर गए और सरिया के भाव तो आदे ही हो गए थे। जून महीने में मानसून की आहट होते ही इनके दाम फिर से बढ़ गए।

Must Read- धूप से चलेगी Garmin की यह स्मार्ट वॉच, फीचर जान उड़ेंगे होश, इतनी है कीमत

ये है सरिया कीमत (रुपये प्रति टन)

नवंबर 2021 : 70000
दिसंबर 2021 : 75000
जनवरी 2022 : 78000
फरवरी 2022 : 82000
मार्च 2022 : 83000
अप्रैल 2022 : 78000
मई 2022 (शुरुआत) : 71000
मई 2022 (अंतिम सप्ताह): 62-63000
जून 2022 (शुरूआत): 50,000
जून 2022 (अंतिम सप्ताह): 55000
1 जुलाई 2022: 56000