Homeदेशउत्तर प्रदेश‘धर्म संसद’ पर घमासान: तथाकथित 'जहर उगलने' की मिली सजा, हो गई...

‘धर्म संसद’ पर घमासान: तथाकथित ‘जहर उगलने’ की मिली सजा, हो गई पहली गिरफ़्तारी

हरिद्वार में हाल ही में संपन्न ‘धर्म संसद’(‘Dharma Sansad’) में हुए कथित घृणा भाषण के संबंध में पुलिस के हवाले से बड़ी खबर आ रही हैं पुलिस ने बताया कि इस मामले में पहली गिरफ्तारी वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी की हुई(First arrest of Wasim Rizvi alias Jitendra Narayan Tyagi) है। जो कुछ दिनों पहले ही मुस्लिम से हिन्दू बने हैं।
हरिद्वार के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक योगेंद्र रावत ने इस गिरफ्तारी की पुष्टि की और उन्होंने ये भी कहा कि रिजवी को रूड़की के नारसन बॉर्डर से गिरफ्तार किया गया हैं। आपको बता दे हरिद्वार में 17 से 19 दिसंबर तक आयोजित ‘धर्म संसद’ में हुए कथित धर्म विशेष के प्रति नफरत भरें भाषणों के संबंध में यह पहली गिरफ्तारी है।
गौरतलब हैं कि कुछ महीने पहले ही हिन्दू धर्म के साथ जितेंद्र नारायण त्यागी का नाम अपनाने वाले लखनऊ निवासी 52 वर्षीय वसीम रिजवी सहित कुल 10 लोगों के खिलाफ इस मामले में नामजद FIR दर्ज की गई थी। वहीँ हिन्दू धर्म अपनाने से पहले वसीम रिजवी उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के प्रमुख भी रह चुके हैं।

 

 

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular