राजस्थान के 7 जिलों में भीषण बारिश का रेड अलर्ट, बांसवाड़ा में 7.5 इंच गिरा पानी

शहर के भूंगड़ा में 7.5 इंच वर्ष दर्ज की गई हैं। इलको ध्यान में रखते हुए मौसम विभाग ने मंगलवार को राज्य के कई इलाकों में भारी बारिश की अंशका जताई और रेड अलर्ट जारी कर दिया हैं।

राजस्थान के दक्षिण भाग के बांसवाड़ा शहर बीते 24 घंटें में झमाझम बारिश हुई। शहर के भूंगड़ा में 7.5 इंच वर्ष दर्ज की गई हैं। इलको ध्यान में रखते हुए मौसम विभाग ने मंगलवार को राज्य के कई इलाकों में भारी बारिश की अंशका जताई और रेड अलर्ट जारी कर दिया हैं। राजस्थान में लगातार हो रही है बारिश से नदी नाले उफान पर है। इससे कई जगह रास्ते बाधित हो रहे हैं।

मौसम विभाग के अनुसार, राज्य के कई जिलों में मंगलवार के लिये कई जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए भारी बारिश की चेतावनी दी है। जिसमें अजमेर, राजसमन्द, सिरोही, जालोर, जोधपुर, नागौर और पाली में कहीं कहीं भारी से भारी बारिश हो सकती है। जबकि जैसलमेर, चूरू, बीकानेर, बाड़मेर, उदयपुर, टोंक, सीकर, कोटा, झुंझुनूं, जयपुर, दौसा, बूंदी और भीलवाड़ा के लिये येलो अलर्ट जारी किया गया है।

Also Read : इंदौर में अब तक 27 इंच से अधिक वर्षा की गई दर्ज

मौसम विभाग के अनुसार, मंगलवार को सुबह साढे आठ बजे तक बीते 24 घंटों में कई इलाकों में भारी से भारी तो कुछ में भारी बारिश देखने को मिली है. सर्वाधिक बारिश बांसवाड़ा के भूंगडा में 180 एमएम दर्ज की गई है। इसके अलावा झालावाड़ के डग में 17 सेंटीमीटर, माउंट आबू में 12, पीपलखूंट में 10, असनावर में 10, पिड़ावा व जगपुरा में 9-9, मनोहरथाना में 8, कुशलगढ़, घाटोल और झालावाड़ में 7-7, बांसवाड़ा, छोटी सादड़ी, सलूंबर और दानपुर में 6-6 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई है।

भारी बारिश के कारण झालावाड़ जिले में कालीसिंध, आहू, उजाड़, चंवली, कालीखाड और परवन नदी का जलस्तर बढ़ा हुआ है। कालीसिंध बांध के 8 गेट खोलकर 93332 क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है. वहीं भीमसागर बांध के 3 गेट खोलकर 9 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। चंवली और गागरीन बांध पर भी चादर चल रही है। बारिश से ग्रामीण क्षेत्र के कई मार्ग अवरुद्ध हो रखे हैं। वहां वैकल्पिक मार्गों से काम चलाया जा रहा है। कई मार्गों पर पानी का ज्यादा खतरा देखते हुये उन्हें अस्थाई तौर पर बंद कर दिया गया है।